यहां बुलेट पर सवार भगवान श्रीगणेश ने दिया हेलमेट पहनने का संदेश, आकर्षण का केंद्र बनी प्रतिमा

जोधपुर। जोधपुर शहर में अब लोगों को बाइक व अन्य दुपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का उपयोग करने के लिए भगवान गजानंद स्वयं इसकी अपील कर रहे है। जी हां.. जोधपुर में इस बार गणेश महोत्सव के तहत एक अनोखी मूर्ति बनाई गई है जिसमें भगवान गणेश मोटर साइकिल पर सवार होकर खुद हेलमेट पहनने का संदेश दे रहे है। इस प्रतिमा को चौपासनी हाउसिंग बोर्ड के ग्यारह सेक्टर में स्थापित किया गया है। यह मूर्ति कोलकाता से आए कलाकार अरबिंदो शाह ने अपनी कला से बनाई है।दरअसल बुलेट मोटर साइकिल पर सवार गणेशजी की यह मूर्ति अपने आप में कई संदेश दे रही है। जोधपुर में आए दिन होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में सिर की चोट के कारण होने वाली मौतों को रोकने के लिए संगोष्ठी, सेमिनार, कार्यशाला और जागरूकता के कार्यक्रम होते रहते है, लेकिन इस बार गणेश चतुर्थी के अवसर पर भगवान श्री गणेश खुद हेलमेट से बचाव का संदेश देते नजर आए। उन्होंने बुलेट पर सवार होकर हेलमेट पहनकर सड़क सुरक्षा के नियम बताए।

कोलकाता से जोधपुर में नेहरू पार्क क्षेत्र में स्थित दुर्गा बाड़ी में पिछले कई दिनों से भगवान गणेश की इस मूर्ति को तैयार किया जा रहा था। इस मूर्ति में भगवान श्रीगणेश ने हेलमेट लगा रखा है। घास फूस से तैयार की गई यह मूर्ति इको फे्रंडली है। लगभग डेढ़ लाख रुपए की लागत से बनी इस मूर्ति को आसानी से पानी से धोया भी जा सकता है। कोलकाता के कलाकार अरबिंदो का कहना है कि दो माह से लगातार मेहनत कर इस मूर्ति को अंतिम रूप दिया गया है। गुरुवार को सुबह क्रेन की मदद से इस प्रतिमा का ट्रैक्टर में रखा श्री हॉस्पिटल के पीछे स्थित बनाए गए पांडाल में ले जाया गया। वहां विधिवत मंत्रो चार के बीच प्रतिमा स्थापित की गई।

51 हजार लड्डुओं का भोग
रातानाडा टेकरी स्थित गणेश मंदिर में भगवान गणेश को गुरुवार को 51 हजार लड्डुओं का भोग लगया गया। इससे पहले सुबह सवा पांच बजे विनायक की आरती हुई। मंदिर के पुजारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि प्रगट गजानंद महाराज मंदिर में गणेश चतुर्थी पर गुरुवार सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने लग गई। यहां भगवान गणेश और रिद्धि-सिद्धि का विशेष शृंगार किया गया। मंदिर परिसर में आकर्षक रोशनी की गई। सुबह सवा पांच बजे मंदिर में आरती हुई। हरिराम शास्त्री महाराज सहित अन्य संतों के सान्निध्य में आरती हुई। इसके बाद शुभ मुहूर्त्त में महापौर घनश्याम ओझा और जेडीए अध्यक्ष प्रो. महेंद्रसिंह राठौड़ ने मंदिर पर ध्वजारोहण किया। मंदिर परिसर में भक्तों को दिनभर प्रसादी का वितरण किया गया। यहां भी लगी रही भीड़
सोजती गेट गढ़ लंबोदर गणेश मंदिर व जूनी धान मंडी स्थित गुरु गणपति मंदिर में भी विशेष धार्मिक आयोजन किए गए। प्रतापनगर गणेश चौराहा स्थित गणपति मंदिर में गणपति महोत्सव धूमधाम से शुरू हुआ। इसके अलावा भीतरी शहर में जूनी मंडी स्थित इश्किया गजानंद मंदिर, सिद्धि विनायक मंदिर, चांदपोल के बाहर मिनका नाड़ी पर चिंतामणि महागणपति का तंत्रोक्त व शास्त्रोक्त विधि से विशेष पूजन हुआ। किला रोड स्थित महादेव अमरनाथ मंदिर में उ िछष्ट गणपति मंदिर सहित विभिन्न गणपति मंदिरों में दिनभर आयोजन चले। गणपति महोत्सव समिति की ओर से जूनाखेड़ापति हनुमान मंदिर में दोपहर में गणपति प्रतिमा की स्थापना की गई। कार्यक्रम संयोजक प्रकाश सिंह भाटी ने बताया जल प्रदूषण की समस्या को ध्यान में रखकर इस बार मिट्टी से बनी प्रतिमा की स्थापना की गई है। जोधपुर में बढ़ रहा क्रेज
इधर महाराष्ट की तर्ज पर जोधपुर में भी गणेश पूजा का दिन ब दिन क्रेज बढ़ता जा रहा है। शहरवासी अब घरों में मूर्ति स्थापित कर दस दिनों तक गणपति का जन्मोत्सव मनाने लगे हैं। इसके साथ ही शहर भर में लोगों ने जलाशयों को प्रदूषण से बचाने के लिए मिट्टी की गणेश प्रतिमाओं को स्थापित करने में रुचि दिखाई है। गणेश चतुर्थी को लेकर मंदिरों में दर्शनार्थियों को दर्शन आसानी से हो इसके लिए विशेष इंतजाम किए गए है। पुलिस प्रशासन ने भीड़ को देखते हुए पर्याप्त जाब्ता तैनात किया है।

Web Title : Message of wearing a helmet given by God Shri Ganesh on a bullet here