कुदरत का कहर: बाढ़-बारिश से बेहाल देश में अबतक 718 मौतें, अकेले केरल में 29 लोगों की मौत

नई दिल्ली: देशभर के कई राज्यों में बाढ़-बारिश ने तबाही मचा रखी है. गृह मंत्रालय ने बताया कि सात राज्यों में बाढ़ और बारिश से जुड़ी घटनाओं में इस मानसून में अब तक 718 लोगों की मौत हो चुकी है. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया केंद्र (एनईआरसी) के अनुसार उत्तर प्रदेश में 171, पश्चिम बंगाल में 170, केरल में 178 और महाराष्ट्र में अब तक 139 लोगों की मौत हुई है. वहीं, गुजरात में 52, असम में 44 और नगालैंड में आठ लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा 26 लोग लापता हैं. इनमें से 21 केरल और पांच पश्चिम बंगाल के हैं.Half of India suffers from flood and rain, 29 die in Kerala

बारिश से जुड़ी घटनाओं में 244 लोग घायल हुए हैं. असम में 11.45 लाख लोग बारिश और बाढ़ की वजह से प्रभावित हुए हैं. वहीं, 27,552 हेक्टेयर खेतों में लगी फसलों पर भी इसका असर पड़ा है. वहीं केरल में पिछले 50 सालों में पहली बार बारिश से भीषण तबाही हुई है. एहतियातन राज्य के 24 बांधों को खोल दिया गया है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का कल दौरा करेंगे.मानसून, बारिश, बाढ़, 718 लोगों की मौत- Khabar IndiaTV

राज्य में बाढ़ और बारिश के कहर से अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी. जगह-जगह भूस्खलन और बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. केरल के वायनाड में खेतों में पानी भर गया है. किसानों को उनकी फसल बर्बाद होने का डर सता रहा है. केरल के इडुक्की में पानी का स्तर बढ़ने के बाद चेरुथोनी बांध के पांच और दरवाज़े खोले गए. कल एक दरवाज़े को 26 साल बाद खोला गया था. राज्य के कोच्चि के रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है. यहां जान जोखिम में डालकर लोग गाड़ी चला रहे हैं. केरल के मुन्नार में रिजॉर्ट में फंसे 30 विदेशी पर्यटकों को सेना ने सुरक्षित निकाला है. सेना केरल के बाढ प्रभावित इलाकों में मदद के लिए पहुंच गई है और टूटी सड़कों को बनाने का काम शुरू कर दिया है. वहीं यहां एयरफोर्स के जवानों को भी बचाव के काम में लगाया गया है.केरल में 29 की मौत, तस्‍वीरों में देखें बाढ़ ने कैसे बरपाया कहर

यूपी में 171 लोगों की मौत 
आपको बता दें किल बाढ और बारिश से अकेले यूपी में अब तक 171 लोगों की मौत हुई. पिछले 24 घंटों में यूपी में छह लोगों की मौत हुई है. यूपी के बस्ती जिले के गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं जिसकी वजह से लोग घरों में कैद रहकर डर के माहौल में जीने को मजबूर. यूपी के फैजाबाद में कैथी मांझा गांव बाढ़ के कारण टापू बन गया है. शर्म की बात ये है कि यहां के लोगों को राहत सामग्री के तौर पर सिर्फ मिट्टी का तेल मिला है. यूपी के हरदोई में बच्चे जान जोखिम में डालकर पुल से पानी में छलांग लगा रहे हैं जिसकी वजह से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. हैरत में डालने वाली एक और बात ये है कि राज्य के बाराबंकी में बाढ़ की राहत सामाग्री पर पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की तस्वीरें लगी हैं. इससे जुड़े एक सवाल के जवाब में एक मंत्री ने कहा कि 2019 के आम चुनाव का प्रचार नहीं है.

कहां-कहां हुईं कितनी मौतें
राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया केंद्र (एनईआरसी) के अनुसार उत्तर प्रदेश में 171, पश्चिम बंगाल में 170, केरल में 178 और महाराष्ट्र में अब तक 139 लोगों की मौत हुई है. वहीं, गुजरात में 52, असम में 44 और नगालैंड में आठ लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा 26 लोग लापता हैं. इनमें से 21 केरल और पांच पश्चिम बंगाल के हैं. बारिश से जुड़ी घटनाओं में 244 लोग घायल हुए हैं. असम में 11.45 लाख लोग बारिश और बाढ़ की वजह से प्रभावित हुए हैं. वहीं, 27,552 हेक्टेयर खेतों में लगी फसलों पर भी इसका असर पड़ा है.

Web Title : Natural disaster: 718 deaths due to flood-ridden country