गठबंधन को निकले नायडू , राहुल से मिले, माया-अखिलेश से भी होगी मुलाकात

नायडू ने इस मिशन पर रवाना होने से पहले कहा कि वे हर दल का समर्थन करेंगे। इसमें तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) भी शामिल होगी, तो नायडू के पड़ोसी राज्य तेलंगाना में सत्ता में हैं। देखना होगा कि गठबंधन का रूप कैसा होगा ....

नई दिल्ली: आन्ध्र प्रदेश के सीएम चन्द्र बाबु नायडू ने शुक्रवार को कंग्रेड्स अध्यक्ष राहुल गाँधी से मुलाक़ात की है. चन्द्र बाबु ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाक़ात की. इस दौरान मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे. खबर है   नायडू शरद पवार, मायावती और अखिलेश से भी मुलाक़ात करेंगे. माया और अखिलेश से मुलाक़ात आज शाम लखनऊ में होगी. इसके बाद लखनऊ में ही एक प्रेस कॉन्फ्रेंस हो सकती है जिसमें कोई बड़ा ऐलान भी सकता है. कांग्रेस ने शुरू की तीसरे मोर्चे की कवायद, राहुल से मिले चंद्रबाबू नायडू, माया-अखिलेश से भी होगी मुलाकात

ये है कयास: माना जा रहा है कि नायडू अब मोदी लहर को बीच समंदर में ही रोकने की कवायद में है और इसके लिये तीसरे मोर्चे के लिये कोशिश तेज हो गई है और इसी सिलसिले में नेताओं के मिलना हो रहा है.  कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि वह एक प्रगतिशील और धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन को लेकर प्रतिबद्ध है और गठबंधन का नेतृत्व करने के लिए तैयार है. गौरतलब है कि एक दिन पहले ही पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि यदि कांग्रेस सबसे बड़े दल के रूप में उभरती है, तो तब भी उसे किसी क्षेत्रीय नेता का समर्थन करने से कोई गुरेज नहीं होगा.

Image result for अखिलेश मायावती

सूत्रों का कहना है कि विपक्षी दलों को साथ लाने के लक्ष्य से यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने विश्वासपात्र नेताओं से कहा है कि वे 23 मई को चुनाव परिणाम की घोषणा के साथ ही एक बैठक बुलाएं. आजाद ने गुरुवार को शिमला में कहा था, ‘‘मेरा पार्टी आलाकमान पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि कांग्रेस को किसी क्षेत्रीय पार्टी से प्रधानमंत्री बनाने में कोई गुरेज नहीं है.” हालांकि शुक्रवार को अपने रुख में कुछ बदलाव करते हुए आजाद ने कहा, ‘‘यह सच नहीं है कि कांग्रेस प्रधानमंत्री पद के लिए दावा नहीं करेगी. कांग्रेस सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी है, यदि सरकार को पांच साल चलाना है तो उसे मौका मिलना चाहिए.” Image result for अशोक गहलोत

राजस्थान से होगा गठबंधन का बड़ा पर: आपको बताते चलें की जुगाड़ और जोड़ तोड़ में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत माहिर है और सूत्रों से आ रही खबर के अनुसार कांग्रेस ने अशोक गहलोत को इसके लिये मौखिक निर्देश भी दिए है. ऐसे में अशोक गहलोत अपने जादू की फिरकी से विरोधियों को भी वश में करने की ताकत आजमा बीजेपी के विजय रथ पर लगाम लगाना चाहेंगे.

सोनिया भी सक्रिय, 23 को बुलाई है गठबंधन दलों की बैठक: इस बीच, यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी पहली ही सक्रिय हो चुकी हैं। सोनिया ने मतगणना के दिन सहयोगी दलों की बैठक बुलाई है। सभी प्रमुख विपक्षी दलों को भी बैठक का न्योता भेजा गया है। सोनिया गांधी ने अखिलेश यादव और मायावती समेत विपक्ष के सभी प्रमुख नेताओं को 23 मई की बैठक में शामिल होने के लिए पत्र लिखा है। बैठक में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव को भी बुलाने की कोशिश हो रही है।

Web Title : rkk