धीमी बैटिंग पर धोनी की आलोचना-मैच में उनका स्ट्राइक रेट 6 भारतीयों से ज्यादा रहा

नई दिल्ली। आॅस्ट्रेलिया के दो मैच की सीरीज के पहले टी-20 में भारतीय टीम 3 विकेट से हार गई। यह एक लो स्कोरिंग मैच था। इसके बावजूद भारतीय पारी के दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर में एक रन नहीं लेकर स्ट्राइक अपने पास रखने का फैसला किया था। उन्होंने 37 गेंद में नाबाद 29 रन बनाए। मैच का नतीजा आने के बाद सोशल मीडिया पर उनके इस फैसले और धीमी पारी को लेकर आलोचना हुई। कुछ लोगों ने तो उन्हें संन्यास लेने तक सलाह दे डाली। हालांकि, मैच के आंकड़ों पर नजर डालें तो धोनी ने केएल राहुल और विराट कोहली को छोड़कर बल्लेबाजी करने आए सभी 6 भारतीयों से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से रन बनाए।

आखिरी 10 ओवर में धोनी का स्ट्राइक रेट 78
विशाखापट्टनम में खेले गए इस मैच में टीम इंडिया ने 20 ओवर में 7 विकेट पर 126 रन बनाए। धोनी जब बल्लेबाजी के लिए क्रीज पर आए तब भारत का स्कोर 10 ओवर में 3 विकेट पर 80 रन था। इसके बाद भारतीय बल्लेबाजों ने 60 गेंदें खेलीं, लेकिन टीम के स्कोर में 46 रन ही जोड़ पाए। इनमें से धोनी के 29 रन थे, यानी उनके रन बनाने का स्ट्राइक रेट 78 रहा। 10वें ओवर के बाद राहुल, दिनेश कार्तिक, क्रुणाल पंड्या, उमेश यादव और युजवेंद्र चहल ने कुल 23 गेंदें खेलीं और टीम के स्कोर में महज 17 रन ही जोड़ पाए, यानी इन बल्लेबाजों ने 74 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए।

आॅस्ट्रेलिया के 4 बल्लेबाजों से भी ज्यादा
इस मैच में धोनी का स्ट्राइक रेट रोहित शर्मा, ऋषभ पंत, कार्तिक, क्रुणाल, उमेश और चहल से ज्यादा रहा। रोहित ने 8 गेंद में 5, ऋषभ ने 5 गेंद में 3, कार्तिक ने 3 गेंद में 1, क्रुणाल ने 6 गेंद में 1, उमेश ने 4 गेंद में 2 रन बनाए। चहल ने 4 गेंदें खेलीं, लेकिन वे खाता भी नहीं खोल पाए। 10वें ओवर के बाद भारत की ओर से सिर्फ एक छक्का लगा, जो धोनी ने लगाया। इस मैच में धोनी का स्ट्राइक रेट आॅस्ट्रेलिया के मार्क्स स्टोइनिस, एश्टन टर्नर, एरॉन फिंच और कूल्टर नाइल से भी ज्यादा रहा।

Web Title : rkk