युवाओं में व्यवस्था के प्रति व्याप्त नकारात्मकता दूर करना आवश्यक श्री क्षात्र पुरूषार्थ फाउंडेशन का चिंतन शिविर सम्पन्न

बाड़मेर. क्षत्रिय समाज के युवाओं के सामाजिक भाव को सकारात्मक दिशा देकर देश एवं समाज के लिए अधिकतम उपयोगी बनाने के लिए श्री क्षत्रिय युवक संघ के अनुषांगिक संगठन के रूप में नवगठित श्री क्षात्र पुरूषार्थ फाउंडेशन की बाड़मेर क्षेत्र की प्रथम बैठक शनिवार को भारतीय ग्राम आलोकायन ट्रस्ट की ओर से संचालित आलोक आश्रम गेहूं रोड में सम्पन्न हुई। बैठक में फाउण्डेशन के केन्द्रीय संयोजक यशवर्धनसिंह झेरली ने बताया कि युवा अवस्था में विभिन्न प्रकार के तनावों एवं व्यवस्था के प्रति पनपे आक्रोश के कारण प्राय: नकारात्मकता विकसित हो जाती है, जिसके कारण उर्जा का सकारत्मक उपयोग नहीं हो पाता ।  श्री क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन  संघप्रमुख भगवानसिंह रोलसाहबसर के निर्देशन में फाउंडेशन समाज के युवाओं में फैली नकारात्मकता को दूर करने का काम करेगा।

सह संयोजक आजादसिंह शिवकर ने फाउंडेशन की कार्यप्रणाली व श्री क्षत्रिय युवक संघ से संबद्धता के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में राजेन्द्रसिंह भियाड़, टीलसिंह चूली, गिरधरसिंह, दीपसिंह रणधा, प्रवीणसिंह आगोर, नरपतसिंह गेहूं, लक्ष्मणसिंह लुणु सहित कई व्यक्तियों ने सम्बोधित किया। इस दौरान संभाग प्रमुख कृष्णसिंह राणीगांव, प्रांत प्रमुख महिपालसिंह चूली, शेरसिंह भूरटिया, स्वरूपसिंह खारा, हिन्दुसिंह केलनोर, गुलाबसिंह कोटड़ा सहित समाज के सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

  1. दस सदस्यीय कोर टीम गठित

बैठक में बाड़मेर क्षेत्र में फाउंडेशन के कार्य को आगे बढाने के लिए कोर टीम का गठन हुआ। जिसमें विजयसिंह माडपुरा, नरपतसिंह दूधवा, महेन्द्रसिंह तारातरा, गणपतसिंह हुरों का तला, लूणसिंह महाबार, तेजमालसिंह मुंगेरिया, प्रेमसिंह लुणु, कानसिंह खारा, डूंगरसिंह गोरडिया, स्वरूपसिंह मुंगेरिया को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई।

Web Title : Rkk