न्यूज निचोड़: दिन भर की 10 बड़ी खबरों पर एक नजर

SC ने केंद्र सरकार को लगाई फटकार, कहा- ताजमहल को बंद कर दो या ध्वस्त कर दो वरना करो मरम्मत

उत्तर प्रदेश के आगरा में मोहब्बत की निशानी ताजमहल के संरक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को केंद्र सरकार और राज्य सरकार को फटकार लगई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि कहा कि अगर आप इसकी देखभाल नहीं कर सकते तो हम इसे बंद कर देंगे या आप इसे ध्वस्त कर दो। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में ताजमहल के समुचित देखभाल के लिए दायर की गई याचिका पर सुनवाई हुई इसी दौरान कोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकार को फटकार लगाई। सुप्रीम कोर्ट के जज ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि ताजमहल एफिल टावर से भी अधिक सुंदर है और इसके जरिए हम अपने विदेशी मुद्रा की दिक्कत को भी दूर कर सकते हैं।

धारा 377 पर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दिया हलफनामा, कहा-कोर्ट करे फैसला

धारा 377 यानि समलैंगिक मुद्दे पर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा है कि इस विषय पर अदालत खुद फैसला करे। इस मुद्दे पर मंगलवार को पक्ष और विपक्ष में गरमागरम बहस हुई थी। सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों वाली संवैधानिक पीठ के सामने एडिश्नल सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इस मामले को केंद्र सरकार न्यायालय के विवेक पर छोड़ती है। धारा 377 की संवैधानिकता के बारे में सुप्रीम कोर्ट को खुद फैसला करना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि अगर लोग आपसी सहमति से संबंध बनाते हैं तो वो अपराध नहीं है। अदालत में सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अगर सुनवाई का दायरा बढ़ता है तो विस्तार में हलफनामा देंगे।

बुराड़ी केस : पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, 10 की मौत फांसी की वजह से हुई

दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में खुलासा हुआ है। इसके अनुसार सभी की मौत फांसी लगने की वजह से हुई थी। पुलिस के अनुसार सभी लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट उसे मिल चुकी है। पुलिस ने बताया कि रिपोर्ट के अनुसार घर के 11 में से 10 सदस्यों की मौत लटकने की वजह से हुई थी। घर के 11वें सबसे वरिष्ठ सदस्य नारायणी देवी की रिपोर्ट का फिलहाल इंतजार है। नारायणी देवी का शव जमीन पर पड़ा मिला था। फांसी से मरने वाले 10 सदस्यों के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं हैं लेकिन इनमें से कुछ की गर्दन की हड्डी टूट गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फांसी से मौत की पुष्टि होने के बाद अब हत्या की आशंका नहीं रहेगी और पुलिस की जांच में तेजी भी आएगी।

सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है यह मैसेज, आधार कार्ड से है कनेक्शन

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक मैसेज वायरल हो रहा है। इस मैसेज की शुरुआत में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया लिखा है। इसके बाद लिखा है- जिनके आधार कार्ड बने हैं, उनके लिए जरूरी सुचना – सभी सावधान रहें और ये रिकॉर्डिंग जरूर सुनें और जल्दी से जल्दी आगे पहुंचाया जाए प्लीज, – धन्यवाद। मैसेज के आखिर में दिल्ली पुलिस अंग्रेजी में लिखा है। इसके साथ ही एक ऑडियो दिया गया है। यह मैसेज कितना सही है और कितना गलत, यह तो नहीं पता। मगर, आधार कार्ड का नंबर किसी को भी फोन पर नहीं बताने की सलाह इसमें जरूर दी गई है। एक जरूरी सूचना। आपको एक आधार कार्ड वेरिफिकेशन कॉल कभी भी आ सकता है। आपको आपका आधार कार्ड का नंबर पूछा जाएगा और कहा जाएगा कि यह आईडिया, एयरटेल, वोडाफोन, जो भी आपका मोबाइल ऑपरेटर हो, उसकी तरफ से यह कॉल है। आपसे कहा जाएगा कि अगर आपके पास आधार कार्ड है, तो एक दबाएं। फिर आपसे आपका आधार कार्ड नंबर मांग लिया जाएगा।

कच्चे तेल पर ओपेक देशों को भारत की हिदायत, कीमत घटाओ या फिर खत्म होगी मांग

क्रूड ऑइल की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर भारत ने अब तेल उत्पादक देशों को चेतावनी देते हुए कहा है कि या तो उन्हें दाम घटाने होंगे या फिर डिमांड में कमी के लिए तैयार रहना होगा । दुनिया में सबसे अधिक क्रूड की मांग वाले देशों में से एक भारत ने ओपेक देशों से कहा है कि उन्हें दाम घटाना शुरू करना होगा या फिर खरीद में कमी के लिए तैयार रहना होगा। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक भारत की ओर से चेतावनी का संकेत देते हुए इंडियन ऑइल कॉर्पोरेशन के चेयरमैन संजीव सिंह ने कहा कि जिस तरह से बीते दो से ढाई महीनों में तेल के दाम बढ़े हैं, यदि ऐसा ही रहा तो भारतीय उपभोक्ता विकल्पों की तलाश करेंगे। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल की महंगाई के चलते भारतीय उपभोक्ता इलेक्ट्रिक वीकल्स और गैस जैसे विकल्पों की ओर देखेंगे क्योंकि ये कम महंगे साबित होगें। ऐसे में 2025 तक भारत की प्रतिदिन 10 लाख बैरल तेल की खपत रिप्लेस हो जाएगी।

अडल्टरी कानून: SC में दाखिल पिटिशन पर केंद्र का जवाब, याचिका खारिज हो, लॉ कमिशन देख रही है मामला

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि अडल्टरी कानून के तहत जो कानूनी प्रावधान है उससे शादी जैसी संस्था प्रोटेक्ट होती है। केंद्र सरकार ने शीर्ष अदालत से उस याचिका को खारिज करने की मांग की है जिसमें धारा-497 के वैधता को चुनौती दी गई है। केंद्र ने कहा कि इस कानून को किसी भी तरह से कमजोर करना शादी जैसी संस्था के लिए हानिकारक साबित होगी। बता दें कि याचिकाकर्ता द्वारा अर्जी दाखिल कर कहा गया है कि आईपीसी की धारा-497 के तहत अडल्टरी के मामले में पुरुषों को दोषी पाए जाने पर सजा दिए जाने का प्रावधान है जबकि महिलाओं को नहीं। ऐसे में यह कानून भेदभाव वाला है और इस कानून को गैर संवैधानिक घोषित किया जाए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सामाजिक बदलाव के मद्देनजर, जेंडर समानता और इस मामले में दिए गए पहले के कई फैसलों को दोबारा परीक्षण की जरूरत है।

J&K: कुपवाड़ा में आतंकियों से मुठभेड़ में एक जवान शहीद, एक घायल

उतर कश्मीर में कुपवाड़ा जिला के कंडी जंगल क्षेत्र आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ में सेना का एक कमांडो शहीद जबकि एक अन्य घायल हो गया। सेना के एक अधिकारी ने कहा कि कंड़ी क्षेत्र के सदुगंगा जंगलों में मुठभेड़ के दौरान आज दोपहर को सेना के 4 पैरा का सैनिक सिपाही मुकुल मीना गोली लगने से गंभीर रुप से घायल हो गए। घायल सैनिक को तुरन्त सैन्य अस्पताल द्रगमुल्ला शिफ्ट कर दिया गया जहां उनकी मौत हो गई। मुठभेड़ के दौरान एक अन्य सैनिक घायल हो गया। हालांकि, उसकी हालत स्थिर बनी हुई है। अधिकारी ने कहा कि गत रात सेना के 47 आर.आर. और आतंकियों के समूह के बीच संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद आतंकियों का समूह इलाके से भागने में कामयाब रहे।

फीफा विश्व कप 2018: फ्रांस ने बेल्जियम को 1-0 से हराया, विश्व कप फाइनल में बनाई जगह

फीफा विश्व कप 2018 के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में फ्रांस का सामना बेल्जियम के साथ हुआ। इस बेहद रोमांचक मैच में फ्रांस ने बेल्जियम को 1-0 से हराकर तीसरी बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई। इस मैच में फ्रांस की तरफ से एकमात्र गोल सैमुअल उम्टीटी ने किया। फाइनल मैच में फ्रांस का मुकाबला दूसरे सेमीफाइनल की विजेता टीम (इंग्लैंड बनाम क्रोएशिया) के साथ 15 जुलाई को होगा। फ्रांस की टीम अब 1998 के बाद दूसरी बार विश्व कप खिताब जीतने के लिए फाइनल में मैदान में उतरेगी। इससे पहले फ्रांस वर्ष 2006 में जर्मनी में खेले गए विश्व कप में फाइनल तक पहुंचा था लेकिन उसे इटली के हाथों पेनल्टी शूटआउट में हार का सामना करना पड़ा। वर्ष 1998 में विश्व कप का खिताब जीतने के 12 वर्ष के बाद फ्रांस की टीम ने फाइनल में जगह बनाई।

बाबा रामदेव की पतंजलि अब बेचेगी दूध-दही और फ्रोजन मटर

योग गुरू बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि अब डेयरी सेक्टर में भी अपना धमाल मचाने के लिए उतरने वाली है। कंपनी अपने कई डेयरी उत्पाद देश के चार राज्यों में लांच करने जा रही है। इसके अलावा छोटे बच्चों के लिए कंपनी ने डायपर भी उतार दिया है। पतंजलि ने डेयरी सेक्टर में जो उत्पाद लांच करने का प्लान किया है उनमें दूध, दही, पनीर, छाछ व फ्रोजन मटर शामिल हैं। कंपनी का दावा है कि सारे उत्पादों में किसी तरह की कोई मिलावट नहीं है और ग्राहकों को शुद्ध उत्पाद मिलेंगे। पतंजलि आर्युवेद के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने बताया कि लोगों को गाय का शुद्ध दूध और इससे बने उत्पाद अब बहुत ही कम दर पर मिलेंगे। जिन राज्यों में कंपनी ने अपने उत्पादों की बिक्री सबसे पहले शुरू करेगी उनमें दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा और महाराष्ट्र शामिल हैं। पतंजलि का मुख्य मुकाबला अमूल, मदर डेयरी, सरस, नमस्ते इंडिया, पारस और गोपालजी जैसी कंपनियों से होगा। दूध की कीमत अन्य कंपनियों के मुकाबले एक से दो रुपये प्रति लीटर कम होगी।

तो इस वजह से मैरीकॉम ने एशियन गेम्स से नाम लिया था वापस, अब ‘विश्व चैंपियनशिप’ में भरेंगी दहाड़

भारत की दिग्गज महिला बॉक्सर और पांच बार की विश्व विजेता मैरी कॉम ने इसी साल अगस्त में होने वाले एश्यिाई खेलों से अपना नाम काफी पहले वापस ले लिया था। हालांकि इसकी वजह का खुलासा मैरीकॉम ने अब जाकर किया है। एक इंटरव्यू में मैरीकॉम ने बताया कि इस साल अगस्त में होने वाले एशियन गेम्स में वह हिस्सा नहीं लेना चाहती थीं। उन्हें गंभीर इंजरी हुई हैं, जिसकी रिकवरी अभी तक नहीं हो पाई हैं। पांच बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम को भरोसा है कि इस साल नवंबर में भारत की मेजबानी में होने वाली विश्व चैंपियनशिप में वह एक बार फिर पदक जीतने में कामयाब होंगी। बता दें कि मैरीकॉम ने इस साल गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था और इससे पहले 2017 में एशियाई महिला चैंपियनशिप में भी उन्होंने स्वर्ण पदक जीता था। मैरीकॉम 2014 के एशियाई खेलों की स्वर्ण विजेता हैं लेकिन अगले महीने जकार्ता में होने जा रहे एशियाई खेलों में वह हिस्सा नहीं ले रही हैं।

 

Web Title : News Squeeze: A look at 10 big news throughout the day