नई दिल्ली
। क्रिकेट वर्ल्ड कप में रविवार को भारतीय टीम से 89 रन से मिली करारी हार के बाद पाकिस्तानी टीम अपने देश में निशाने पर है। पाकिस्तान क्रिकेट फैंस के अलावा इमरान सरकार की कैबिनेट की मंत्री तक ने पाक टीम को आड़े हाथों लिया। पाकिस्तानी खिलाड़ियों को हार से ज्यादा फिटनेस और मैदान पर सुस्ती को लेकर फैन्स के आक्रोश का सामना करना पड़ रहा है। टीम की फिटनेस से लेकर कैप्टन सरफराज की उबासी पर क्रिकेट प्रेमियों में उबाल है। मैच की कॉमेंट्री कर रहे पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी वसीम अकरम और रमीज राजा भी टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस से खासे नाराज नजर आए।


दरअसल, क्रिकेट फैंस की नाराजगी की सबसे बड़ी वजह मैच के दौरान की सरफराज की एक विडियो बना। इसमें सरफराज खेल के दौरान उबासी लेते दिख रहे थे। विडियो सामने आने के बाद यह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और टीवी में भी इसकी चचार्एं होने लगीं। बता दें कि मैच के दौरान पाकिस्तानी खिलाड़ी अपने रंग में नजर नहीं आए।
पूर्व खिलाड़ियों ने फिटनेस पर उठाए सवाल
कॉमेंट्री के दौरान पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने भारतीय खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की थी। उन्होंने कहा कि एक को दो में बदलना और विकेटों के बीच दौड़ से यह पता चलता है कि भारतीय खिलाड़ी कितने फिट हैं। एक अन्य पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी रमीज राजा ने भी पाकिस्तानी खिलाड़ियों की तुलना में भारतीय खिलाड़ियों को जबरदस्त फिट बताया था।
इमरान की मंत्री नाराज
पाकिस्तान की हार के लिए इमरान सरकार की मंत्री शिरीन मजारी ने सरफराज और शोएब मलिक को जिम्मेदार ठहराया। पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री ने सरफराज की फील्ड पर उबासी का जिक्र करते हुए ट्वीट किया और भारतीय टीम को प्रोफेशनल बताया। शिरीन ने लिखा, जब कप्तान फील्ड पर उबासी लेता है, फील्डिंग अस्तित्वहीन होती है, मैच से कुछ घंटों पहले धूम्रपान किया जाता है। तो ऐसे में तिरस्कार के अलावा और क्या उम्मीद लगाई जा सकती है। कप्तान द्वारा भारत को पहले बैटिंग करने देना हमारी आखिरी गलती थी या फिर मलिक का आते ही आउट हो जाना।
पाकिस्तान की टीम प्रोफेशनल नहीं
शिरीन यहीं नहीं रुकीं। उन्होंने पाकिस्तान टीम की फिटनेस पर भी सवाल उठाए। उन्होंने लिखा, यह मानते हुए मुझे बुरा लग रहा है लेकिन आज जो प्रफेशनल टीम थी वह भारत की थी और जो जुदा-जुदा (आवारा) सा लग रहे थे वह पाकिस्तान की थी जिसे उबासी लेनेवाले कप्तान को सौंपा गया था। हार या जीत खेल का हिस्सा हैं लेकिन प्रेफशनल लगने का भी एक तरीका होना चाहिए।