पीपाड़ सिटी। नगर पालिका साधारण सभा की बैठक मंगलवार को पालिकाध्यक्ष महेंद्रसिंह कच्छावाहा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक शुरू होते ही बैठक एजेंड़े के तहत सरकारी विभागों को जमीन आवंटन करने का मामला रखा गया। इस पर नेता प्रतिपक्ष अशोक दवे एवं कांग्रेसी पार्षद बाबूलाल सांखला ने पूर्व में बजट बैठक में बिना पार्षदों से चर्चा किए ही अन्य प्रस्ताव लेने का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया । कांग्रेसी पार्षदों ने कहा कि अब इस मामले में वे समस्त प्रकरण की एसीबी से जांच करवाएंगे। इसके उपरांत सदन में हंगामा शुरू हो गया और कई देर तक मामला ठंडा नहीं होता देख पालिकाध्यक्ष ने सभी पार्षदों को समझाने की कोशिश की।

पालिकाध्यक्ष ने कहा कि सर्वप्रथम आज की बैठक के एजेंडे के तहत चर्चा होनी चाहिए फिर यदि आप लोगों की कोई शिकायत है या सुझाव हो तो आप सदन के समक्ष रखे तथा बैठक संचालन में सहयोग प्रदान करे। लगातार पार्षदों के हंगामे से नाराज पालिकाध्यक्ष ने कहा कि या तो बोर्ड़ की कार्रवाई चलने दें या हंगामा करने वाले बाहर निकल जाए। इससे नाराज कांग्रेस के सभी पार्षदों ने वॉकआउट करते हुए पालिका बोर्ड के विरुद्ध नारेबाजी कर मुख्य भवन के बाहर धरने पर बैठ गए। इसके उपरांत पालिकाध्यक्ष सहित भाजपा के 15 पार्षदों की उपस्थिति में बैठक में रोडवेज बस स्टैंड आबकारी विभाग होम गार्ड्स को भूमि आवंटन संबंधी प्रस्ताव रखा गया। बस स्टैंड के संबंध में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि वर्तमान में जहां संचालित मिनी बस स्टैंड है वहीं रोडवेज बस स्टैंड रखा जावे जो कि शहर के नजदीक है इसके अतिरिक्त अन्य विभागों को भूमि आवंटन क्योंकि पालिका क्षेत्र में इतनी भूमि रिक्त नहीं है इसके लिए पैराफेरी बेल्ट सिंधीपुरा खुङेचा आदि में उपलब्ध भूमि पालिका को आवंटित करवाने हेतु राज्य सरकार को लिखा जावे। जिससे कि सभी सरकारी विभाग एक ही स्थान पर संचालित हो सके इसके अतिरिक्त शहर के विकास कार्य के संदर्भ में विचार विमर्श किया गया। भाजपा पार्षद दुलीचंद सोनी ने न्यू बस स्टैंड पर अतिक्रमण का मामला रखा। बिंदु अरोड़ा एवं लीला जैन ने ठेकेदारों द्वारा मुख्य रास्तों पर खुदाई करके काम शुरू नहीं करने से आमजन को हो रही परेशानी का मामला रखा। धनराज सोलंकी ने शहर में सफाई कर्मचारियों के मनमाने रवैए तथा बिगड़ती सफाई व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए कर्मचारियों पर लगाम लगाने की मांग रखी। बैठक में पार्षदों ने प्रस्ताव रखा कि सफाई कर्मचारियों की सफाई व्यवस्था का वेरीफिकेशन स्थानीय पार्षद के द्वारा होने के उपरांत ही पेमेंट बनाने की प्रक्रिया शुरू की जाए। महेंद्र सरगरा ने कहा कि सफाई कर्मचारी स्वयं मौके से नदारद रहते हैं तथा उनकी जगह किराए के अन्य अप्रशिक्षित व्यक्ति सफाई का काम करते हैं। इस पर नाराजगी जताते हुए पालिकाध्यक्ष ने सफाई निरीक्षक को मौके पर बुलाकर लताड़ लगाते हुए भविष्य में ऐसी शिकायत पुनरावृति नही होने देने सख्त हिदायत दी। पालिका ईओ सुरेशचंद्र शर्मा ने कहा कि ऐसे व्यक्तियों को अब सस्पेंड करने की कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान बैठक में स्थानीय नागरिकों के एक दल ने गंदे पानी से उगाई जा रही सब्जियों का मामला रखते हुए गहरी चिंता जताई। जिस पर पालिका प्रशासन ने पुलिस के द्वारा ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। इस दौरान बैठक में विभिन्न सामाजिक वैवाहिक स्थलों पर कोर्ट द्वारा लगी रोक एवं सामाजिक भवनों का विवाह स्थलों का पंजीकरण करने के कानूनी पहलुओं पर विचार विमर्श कर बोर्ड़ द्वारा कई प्रस्ताव रखे गए।

कांग्रेसी पार्षदों ने बैठक से वॉकआउट

बोर्ड बैठक शुरू होते ही कांग्रेसी पार्षदों द्वारा 29 जनवरी 2019 को बोर्ड बैठक के एजेंडे में प्रस्ताव संख्या एक के अलावा कोई प्रस्ताव नहीं लिया गया ना ही कोई निर्णय लिया गया उसके उपरांत भी उनको कार्य विवरण में जोड़ने को लेकर कांग्रेसी पार्षद नाराजगी जताते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया इस पर पालिकाध्यक्ष ने उनको शांत करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने अपना विरोध जारी रखा। इस पर अध्यक्ष ने एजेंडा बैठक के अलावा बात करने पर बैठक से बाहर चले जाने को कहा। जिस पर कांग्रेसी पार्षद नेता प्रतिपक्ष अशोक कुमार दवे, बाबूलाल सांखला, खुशबू शर्मा, जवाहरलाल, इमरान लोहार, लुकमान राठौड़ विमला, फरजाना बानो नाराज हो गए और बैठक से बाहर आकर पालिका गेट पर धरने देकर बैठ गए। कांग्रेसी पार्षदों के धरने की जानकारी मिलते ही नगर कांग्रेस अध्यक्ष अमराराम भाटी, पूर्व अध्यक्ष बाबूलाल टाक, बक्साराम कच्छावाह, राणाराम, कन्हैयालाल जांगिड़ इत्यादि नगर पालिका पहुंचे और धरने पर बैठे कांग्रेसी पार्षदों से मिलकर मनमर्जी से लिए गए प्रस्तावों को विवरण रजिस्टर से हटाने एजेंडा की कॉपी 4 माह बाद देने विकास कार्यों में भेदभाव करने कांग्रेसी पार्षद के प्रस्ताव पर विचार नहीं करने को लेकर ईओ के सामने गहरी नाराजगी जताते हुए ईओ व उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान बैठक में पालिका उपाध्यक्ष उमरदराज कुरेशी,रामकिशोर,जितेंद्र कच्छवाहा,सुभाष बोहरा,सुगनाराम सैनी,लक्ष्मी सैनी सहित कई पार्षगण मौजूद रहे।