राहुल गांधी का RSS पर वार, कहा- तिरंगे को सलामी देना संघ ने सत्ता में आने के बाद सीखा

नई दिल्ली: दिल्ली में साझी विरासत बचाओ सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आरएसएस, बीजेपी और मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. राहुल ने संघ पर वार करते हुए कहा कि इन लोगों ने तिरंगे को सलाम करना भी सत्ता में आने के बाद सीखा है. राहुल ने कहा कि संघ के लोग जानते हैं कि ये चुनाव नहीं जीत सकते हैं इसलिए हर जगह अपने लोगों को डाल रहे हैं.

राहुल ने कहा कि इन ताकतों से मिलकर लड़ने की जरूरत है, क्योंकि आरएसएस संविधान बदलना चाहता है. राहुल गांधी ने कहा, “संविधान में लिखा है वन मैन वन वोट. जो अधिकार संविधान देता है, आरएसएस नष्ट करना चाहता है. संविधान बदलना चाहता है.”

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार आने से पहले गया था कि 2 करोड़ लोगों को रोजगार देंगे, 15 लाख देने का वादा किया था लेकिन उन्होंने एक भी वादा पूरा नहीं किया. उन्होंने कहा कि हम लोगों को इनके खिलाफ एक साथ होकर लड़ना है. पिछले 2 साल में 1 लाख 30 करोड़ रुपए 10-15 करोड़पतियों का माफ कर दिया है. तमिलनाडु के किसान जंतर-मंतर पर नंगे होकर प्रदर्शन कर रहे हैं, किसान पूरे देश में मर रहे हैं.

साथ ही राहुल गांधी ने आरएसएस के देश को देखने के नजरिए पर हमला करते हुए कहा, “देश को देखने को दो तरीके होते हैं, ये देश मेरा है, एक कहता है कि मैं इस देश का हूं, ये फर्क है हममें और आरएसएस में. आरएसएस कहता है कि ये देश हमारा है. तुम इसके नहीं हो. गुजरात में दलितों की पिटाई की और कहा कि ये देश हमारा है, तुम इसके नहीं हो.”इस मौके पर राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी को झूठ बोलने वाला करार दिया. उन्होंने कहा, कि मोदी जी जहां भी जाते हैं कुछ न कुछ झूठ बोल जाते हैं. अगर हम मिल के लड़े तो ये कहीं दिखाई नहीं देंगे.”

Web Title : Rahul Gandhi's stance on RSS, said-