राजस्थान में राजे बन बैठी महारानी, बीकानेर में बोले- गहलोत

गहलोत के साथ डूडी-भाटी का नहीं दिखना सवालों में

बीकानेर। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने रविवार सुबह प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा पर जमकर निशाने साधे। गहलोत ने कहा कि वसुंधरा राजे महारानी बनी बैठी हैं। भाजपा तनाव व दबाव की राजनीति कर रही है। हमारी योजनाओं पर अपनी मुहर लगा रही है। हर क्षेत्र में वसुंधरा सरकार विफल साबित हुई है। नोटबंदी को बड़ा खेल बताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि नोटबंदी से जमा कैश का भाजपा ने भलीभांति उपयोग किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुद्दों से हटकर बात करते हैंए लेकिन जनता सब समझती है।

पं. नेहरु से मुकाबला प्रधानमंत्री मोदी सात जन्मों तक नहीं कर सकते। नेहरु ने जो कार्य किए हैं वो ऐतिहासिक हैं। राजस्थान में कांग्रेस के मुख्यमंत्री चेहरे पर गहलोत ने कहा कि पार्टी का निर्णय सर्वोपरि होता है। आज तक मैंने कभी किसी भी पद की मांग नहीं की। मैं भाग्यशाली हंू कि कांग्रेस ने मुझे बिना मांगे ही सब कुछ दिया है। प्रेसवार्ता के दौरान बीकानेर पूर्व विधानसभा प्रत्याशी कन्हैयालाल झंवरए पश्चिम विधानसभा प्रत्याशी डॉण् बीडी कल्लाए लूणकरणसर प्रत्याशी वीरेन्द्र बेनीवाल तथा जिलाध्यक्ष यशपाल गहलोत उपस्थित रहे।

गहलोत के साथ डूडी-भाटी का नहीं दिखना सवालों में⬅⬇
पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत का बीकानेर दौरा कई सवालों को धार दे गया।
खासतौर से रामेश्वर डूडी का पूरे कार्यक्रम में साथ नहीं रहने से यह बात तो साफ हो गई कि कांग्रेस में अभी तक सामान्य स्थितियाँ नहीं बन सकी है। चौंकाने वाला तथ्य यह भी रहा कि इस दौरे में कहीं भंवर सिंह भाटी भी दिखाई नहीं दिए।

उल्लेखनीय है कि जिस दिन बीकानेर विधानसभा पूर्व से कन्हैयालाल झंवर की टिकट कटने और यशपाल गहलोत को पूर्व का टिकट दिये जाने की घटना हुई और इस घटना की प्रतिक्रिया में रामेश्वर डूडी ने भी चुनाव नहीं लडऩे का एलान किया तब भी ऐसा माहौल बना था कि भवरसिंह भाटी ने भी चुनाव लडऩे से मना कर दिया है। हालांकिए इस कि पुष्टि होतीए इससे पहले ही टिकट वापस कन्हैयालाल झंवर को मिल गया।

रविवार की सुबह जब गहलोत के साथ लूनकरणसर प्रत्याशी वीरेंद्र बेनीवाल दिखे और रामेश्वर डूडीए भंवरसिंह भाटी नहीं दिखाई दिए तो एक बार फिर इन चचार्ओं को बल मिला कि बीकानेर का एक धड़ा अशोक गहलोत के साथ नहीं है।
हालांकिए यह भी कहा जा रहा है कि दोनों ही नेताओं को अपने.अपने क्षेत्र में व्यस्त होने के कारण बुलाया ही नहीं गया। यह कार्यक्रम बीकानेर विधानसभा पूर्व और पश्चिम के लिए ही था।

Web Title : Raje, sitting in Rajasthan, says in Queen, Bikaner- Gehlot