नई दिल्ली। वर्ल्ड कप 2019 के महामुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 89 रन से रौंद दिया। मैच का नतीजा डकवर्थ लुईस नियम के तहत निकला। पाकिस्तान की हार के कई कारण रहे। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग के अलावा प्रधानमंत्री इमरान खान की नसीहत नहीं मानने की वजह से भी पाकिस्तानी टीम मैच गंवा बैठी। दरअसल, मैच शुरू होने से पहले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने सरफराज अहमद को ये नसीहत दी थी कि अगर टॉस जीतो तो बल्लेबाजी का फैसला लेना, लेकिन ऐसा नहीं हुआ सरफराज ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया और लेने के देने पड़ गए। सरफराज अहमद का ये फैसला बहुत ही गलत साबित हुआ। हालांकि विराट कोहली भी पहले गेंदबाजी ही करना चाहते थे।
नसीहत को किया नजरअंदाज
आपको बता दें कि इमरान खान पूर्व क्रिकेटर हैं और अपने अनुभव के आधार पर ही उन्होंने सरफराज को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने को कहा था, जिसे सरफराज ने नजरअंदाज कर दिया। इमरान ने इसकी पीछे वजह ये दी थी कि बारिश की वजह से पिच में नमी रहेगी, जिसका फायदा बल्लेबाजों को होगा और बारिश के खतरे को देखते हुए भी पहले बल्लेबाजी का फैसला सही था।
इमरान खान ने किए थे कई ट्वीट
1992 में पाकिस्तान को वर्ल्ड कप जिताने वाले पूर्व कप्तान और खिलाड़ी इमरान खान ने भारत-पाकिस्तान मैच से पहले कई ट्वीट किए। उन्होंने अपने ट्वीट में पाकिस्तान टीम को सलाह दी। इस दौरान उन्होंने कहा, जब मैंने अपना क्रिकेट करियर शुरू किया था, तब मैंने सोचा कि सफलता 70 फीसदी प्रतिभा और 30 फीसदी मानसिक स्थिरता से मिलती है। जिस वक्त मैंने क्रिकेट खेलना बंद किया तो मुझे ये अनुपात 50-50 का लगा, लेकिन अब मैं अपने दोस्त गावस्कर से सहमत हूं, यह 60 फीसदी मानसिक स्थिरता और 40 फीसदी टैलेंट पर निर्भर करता है। आज दिमाग की भूमिका 60 फीसदी से अधिक है।
सरफराज को इमरान ने दिए थे कुछ टिप्स
अपने अगले ट्वीट में इमरान ने कहा था, पाकिस्तान की टीम को मन से हारने का डर निकाल देना चाहिए। यह डर रणनीति पर असर डालता है, जिससे गलतियां होंगी और विपक्षी भारी होगा। उन्होंने आगे सरफराज को सलाह दी कि अगर पिच पर नमी न हो तो उन्हें पहले बैटिंग चुननी चाहिए। इमरान ने मैच में स्पेशलिस्ट गेंदबाजों और बल्लेबाजों को लेकर उतारने की बात कही है। उन्होंने आगे लिखा क्योंकि रेलो कट्टा (हर चीज कर लेने वाले) प्रेशर वाले गेम में प्रदर्शन नहीं कर पाते। आपको बता दें कि भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 336 रन बोर्ड पर टांग दिए थे। इसके बाद दूसरी पारी में बारिश ने दो बार खेल को रोका, जिसका फायदा भारतीय टीम को हुआ।