RSS प्रमुख मोहन भागवत ने दिया बड़ा बयान, बोले- अगर मैं बोला तो मेरी नौकरी चली जाएगी

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत राजकोट में हो रहे अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की सालाना बैठक में शामिल होने पहुचे। एयरपोर्ट से बहार निकलते ही पत्रकारों ने जब उनसे सवाल पूछना चाहा तो उन्होंने कहा की अगर मैंने कुछ बोला तो मेरी नौकरी चली जाएगी। यह बैठक सोमनाथ में तीन दिन तक होगी जिसमें शामिल होने के लिए मोहन भागवत राजकोट पहुचे है। एयरपोर्ट से बाहर निकलने पर उन्होंने तंज कसते हुए कहा की बोलने का काम किसी और को फिया गया है अगर मैंने बोलने के लिए मुह खोला तो मेरी नौकरी तुरंत चली जाएगी।

सोमनाथ में होने वाले इस सम्मलेन में संघ के सर कार्यवाह भैया जोशी के अलावा सभी सह सर कार्यवाह, कार्यकारिणी सदस्य, क्षेत्र प्रचारक, प्रांत प्रचारक और सह प्रांत प्रचारक भाग लेंगे. ऐसा माना जा रहा है की इस सम्मलेन का उद्देश्य आने वाले लोकसभा और तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव पर योजनाओ को अंतिम रूप देने के लिए आयोजित किया गया है। इस सम्मलेन में भाग लेने के लिए अमित शाह भी शामिल हो सकते है .यहाँ उनकी मुलाक़ात स्थानीय नागरिको के साथ साथ अन्य बड़े नेताओं से भी करेंगे।

आपको बता दें कि गुजरात में 15 से 17 जुलाई तक अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की तीन दिवसीय सालाना बैठक होने जा रही है। जिसके मद्देनजर संघ प्रमुख 12 से 18 जुलाई तक सोमनाथ में ही रहेंगे। संघ प्रमुख यहां सह सरकार्यवाहक मनमोहन वैद्य के साथ राजकोट एयरपोर्ट पहुंचे थे, जहां पत्रकारों के सवालों पर भागवत ने कहा कि अगर बोला तो मेरी नौकरी चली जाएगी, बोलने का काम किसी और को दिया गया है।

तीन दिन तक चलने वाली इस बैठक में संघ के सर कार्यवाह भय्याजी जोशी समेत सभी सह सर कार्यवाह, कार्यकारिणी के सदस्य, प्रांत प्रचारक और सह प्रांत प्रचारक इस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। जानकारी के अनुसार तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव के साथ-साथ देश के सामाजिक, सांस्कृतिक व अध्यात्मिक मुद्दों पर भी इस दौरान मंथन किया जाएगा। मोहन भागवत सोमनाथ मंदिर में पूजा अर्चना भी करेंगे, इसके बाद वह सोमनाथ जिले के तमाम स्थानीय स्वयंसेवकों, कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी गुजरात पहुंच रहे हैं, ऐसे में माना जा रहा है कि वह भागवत से सोमनाथ में मुलाकात कर सकते हैं।

Web Title : RSS chief Mohan Bhagwat gave a big statement