-पायलट के लिए सेफ सीट को लेकर खोजबीन शुरू

जयपुर। कांग्रेस की पहली सूची जारी होने से पहले विधानसभा चुनाव लड़ने का एलान कर चुके पीसीसी चीफ सचिन पायलट किस सीट से मैदान में उतरेंगे। इसको लेकर अभी संशय बना हुआ है। पायलट के एलान के बाद से उनके समर्थकों के साथ ही पार्टी के नेता कई सीटों को लेकर मंथन में जुटे हुए हैं। कांग्रेस मुख्यालय में बयान देते हुए पायलट ने कहा कि राहुल गांधी के आदेश और अशोक गहलोत के निवेदन के बाद वे भी चुनाव लड़ेंगे। इसके बाद से ही पार्टी की भीतर सियासी पारा चढ़ा हुआ है। पायलट पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। उनके एलान के बाद संगठन के स्तर पर पायलट के लिए सेफ सीट को लेकर खोजबीन शुरू हो चुकी है।

सेफ सीट को लेकर मंथन
राजस्थान की कई सीटों पर उनके नाम को लेकर अटकलें चल रही है। लेकिन अभी तक निष्कर्ष निकला नहीं है। हर किसी की जुबान पर बस यही सवाल है कि पायलट किस सीट से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि पार्टी की तरफ से जारी होने वाली पहली सूची में पायलट का नाम आने के साथ ही उनके विधानसभा सीट को लेकर भी पर्दा उठ जाएगा। लेकिन उससे पहले पायलट की सीट को लेकर चर्चाओं को साथ ही कयासों का दौर तेज है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक पायलट के नाम को लेकर जयपुर की किशनपोल, टोंक, नगर, नसीराबाद, मसूदा और आसिंद विधानसभा सीट से चर्चा गर्म है। सियासी समीकरण के बीच उनकी टीम सेफ सीट को लेकर मंथन में जुटी हुई है।

सीटवार यह है गणित
सचिन पायलट किशनपोल सीट से वोटर है। इस सीट से पायलट के चुनाव लड़ने की संभावना सबसे ज्यादा है। अगर पायलट इस सीट से चुनाव लड़ते हैं तो उनका जीतना आसान माना जा रहा है। इस सीट पर करीब 75 हजार मुस्लिम मतदाता है जो हमेशा से ही कांग्रेस का कोर वोट बैंक माना जाता है। दूसरे नम्बर पर पायलट के लिए टोंक की सीट सेफ मानी जा रही है। जहां पर सबसे ज्यादा मुस्लिम तो दूसरे नम्बर पर गुर्जर आते हैं। जातिगत समीकरणों के हिसाब से ये सीट पायलट के लिए सबसे सेफ सीट में से एक है। नगर की सीट भी गूर्जर-मुस्लिम बाहूल्य है। लेकिन नगर सीट पर बसपा का असर पायलट को चिंता में डाल सकता है।

नसीराबाद सीट गुर्जर-जाट बाहुल्य है। ये सीट पायलट के अजमेर लोकसभा में आती है जहां से पायलट सांसद भी रह चुके हैं। मसूदा सीट पर भी पायलट चुनाव लड़ सकतें हैं। क्योंकि अगर यहां से पायलट चुनाव लड़ते हैं तो यहां भी उन्हें गुर्जर, माइनोरिटी, राजपूत मिलेंगे। इसके अलावा आसींद सीट पर गुर्जर बडी संख्या में हैं। कहा जा रहा है कि पायलट इस सीट पर भी विचार कर रहें हैं।