दिल्ली में स्कूल बना कैदखाना! 40 डिग्री टेंपरेचर में 5 घंटे बेसमेंट में बंधक रखी गई 59 बच्चियां

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के चांदनी चौक में एक स्कूल में मासूमों को तहखाने में बंद करने का मामला सामने आया है. स्कूल ने दरिंदगी की सारी हदें पार करते हुए अपने स्कूल के 59 बच्चों को इसलिए बंधक बना लिया क्योंकि बच्चों के फीस जमा नहीं की थी. ये घिनौनी हरकत चांदनी चौक के राबिया प्राथमिक स्कूल ने की है. स्कूल की एक महीने की फीस 3000 रुपए है. 40 डिग्री तापमान में भूखी-प्यासी बच्चियां दोपहर होने का इंतजार कर रही थीं, ताकि जल्दी से उनके माता-पिता आकर उन्हें ले जाएं। जब पैरंट्स पहुंचे, तो उन्हें देखते ही बच्चे बुरी तरह रो पड़े। पैरंट्स इस बात से हैरान हैं कि महज फीस न चुकाने पर तहखाने (बेसमेंट) में बंधक बनाकर 59 बच्चियां 5 घंटे तक कैद रखी गईं।Representative Image

परिजनों का आरोप है कि बेसमेंट में रूम के बाहर की कुंडी लगाई गई थी। वे जब बच्चियों को लेने स्कूल पहुंचे तो स्टाफ भी संतुष्टि भरा जवाब नहीं दे सका। बच्चियों का गर्मियों में भूख-प्यास से बुरा हाल था। अपने बच्चों की हालत देखकर परिजन भी बिफर गए। उन्होंने स्कूल के बाहर जमकर हंगामा किया।

स्‍कूल का यह रवैया इस मायने में अमानवीय भी है कि किंडरगार्टन के बच्‍चे, जिनकी उम्र पांच साल से भी कम होती है, को फीस नहीं चुकाने पर ऐसी ‘सजा’ दी गई, जबकि अभिभावकों का कहना है कि वे पहले ही फीस भर चुके हैं। अभिभावकों को अपने बच्‍चों को स्‍कूल के बेसमेंट में लॉक किए जाने का पता तब चला जब वे दोपहर 12.30 बजे अपने बच्‍चों को लेने स्‍कूल पहुंचे।

अभिभावकों की शिकायत है कि उनके बच्‍चों को सुबह 7.30 बजे स्‍कूल पहुंचने के बाद ही बेसमेंट में लॉक कर दिया गया और फिर दोपहर तक करीब पांच घंटे वहां बिठाकर रखा गया। यह मामला मध्‍य दिल्‍ली में हौज काजी इलाके के राबिया गर्ल्‍स स्‍कूल का है, जहां प्री-प्राइमरी के करीब 16 बच्‍चों को सोमवार को कथित तौर पर बेसमेंट में लॉक कर दिया गया। यहां बच्‍चे गर्मी से बेहाल रहे।

अभिभावकों की शिकायत है कि स्‍कूल स्‍टाफ ने उन्‍हें बच्‍चों को बेसमेंट में लॉक करने की वजह फीस नहीं चुकाना बताया और जब उन्‍होंने इसकी शिकायत टीचर से की तो उन्‍होंने भी उनके साथ दुव्‍यर्वहार किया और उन्‍हें स्‍कूल परिसर से ‘बाहर फेंक देने’ की धमकी दी। पुलिस ने जूवेनाइल जस्टिस ऐक्ट की धारा 75 के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। अभिभावकों का दावा है कि उन्होंने जब तहखाने के दरवाजे खोले तो बच्चियां जमीन पर बैठी नजर आयीं.

मामले ने मंगलवार को उस वक्त तूल पकड़ा जब इस हैरतअंगेज घटना का विडियो और तस्वीरें भी सामने आई। इसमें दिख रहा है कि छात्राओं को बेसमेंट में बंद किया गया है। ये विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। विडियो सामने आने के बाद स्कूल प्रबंधन के खिलाफ अभिभावकों में गहरा रोष है। विडियो में देखा जा सकता है कि लड़कियां बेसमेंट में फर्श पर बैठी हैं।

Web Title : School built in Delhi prison! 5 hours in 40 degree temperature, 59 hostages held in the basement