बाड़मेर में सात मतदान केंद्र बनेंगे आदर्श, मतदाताओं को करेंगे प्रेरित

बाड़मेर: राजस्थान में सबसे पिछड़े जिले के रूप में अब तक पहचाना जाने वाला जिला बाड़मेर इन दिनों तरह-तरह के नवाचार कर प्रदेश में सिरमौर बना हुआ है। आदर्श आचार सहिंता लागू होते ही निर्वाचन विभाग ने जिले में शांत,निष्पक्ष एवं अधिकाधिक मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए कई नवाचार कर रहा है।

पिछले दिनों जिला मुख्यालय पर 51 मीटर लंबी पाबू जी फड़ से मतदाताओं को जागरूक करने का प्रयास किया गया तो उससे पहले राजकीय कन्या महाविद्यालय में स्वीप सांप सीढ़ी के माध्यम से युवाओं न केवल मतदान के लिए प्रेरित किया गया बल्कि एक रिकॉर्ड गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड भी बाड़मेर के नाम दर्ज किया है।

हालांकि यह रिकॉर्ड पहले भी बाड़मेर के नाम से ही दर्ज है। इस बार मतदान केंद्रों को चुनाव आयोग ने अलग अलग श्रेणी में रखने का निर्णय लिया है। जिले के सात मतदान केंद्र आदर्श मतदान केंद्र कहलाएंगे, जहां मतदाताओं को नेट, बिजली, शौचालय, पानी पिलाने के लिए स्वयंसेवक एवं बैठने के लिए कुर्सियों की व्यवस्था रहेगी। आदर्श मतदान केंद्र प्रत्येक विधानसभा में एक होगा जो एक तरह से मॉडल केंद्र रहेगा।

यहां आदर्श मतदान केंद्र
शिव विधानसभा क्षेत्र के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बांया भाग गूंगा, बाड़मेर विधानसभा क्षेत्र के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बांया भाग बाड़मेर, बायतु विधानसभा क्षेत्र के राजकीय आदर्श उमावि निम्बानियो की ढाणी, पचपदरा विधानसभा क्षेत्र के श्रीमती भंवरी देवी सोहनलाल सालेचा राउमावि नया भवन पूर्वी भाग पचपदरा, सिवाना विधानसभा क्षेत्र के राउप्रावि हरमलपुरा, गुड़ामालानी विधानसभा क्षेत्र के राजकीय आदर्श उमावि जालूपुरा एवं चौहटन विधानसभा क्षेत्र के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नेतराड मतदान केंद्रों को आदर्श मतदान केंद्र घोषित किया है, जहां आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी।

सात विधानसभा क्षेत्र में सात मतदान केंद्र को आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं, निसन्देश नई पहल से मतदाताओं में जागरूकता आएगी एवं मतदान प्रतिशत भी बढ़ेगा।
राकेश कुमार, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, बाड़मेर

Web Title : Seven polling booths will be built in Barmer