बाड़मेर ने तोड़ा खुद का नेशनल रिकॉर्ड, राजस्थान में ऐसा पहली बार हुआ।

-बाड़मेर में नए नेशनल रिकॉर्ड के साथ धरा पर उतरी स्वीप साँप सीढ़ी, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में शामिल होगी

-जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिलाई मतदान की शपथ

बाड़मेर: लोकतंत्र के पर्व चुनाव को लेकर राज्य भर में मतदान जागरूकता के कई कार्यक्रम चल रहे है लेकिन इन सभी से अलग बाड़मेर ने अपने नाम नया कीर्तिमान दर्ज किया है। मतदाताओं की अधिकाधिक सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश में विभिन्न प्रकार की गतिविधियां के तहत मंगलवार को बाड़मेर जिला प्रशासन ने स्वीप साँप सीढ़ी के जरिए राष्ट्रीय रिकॉर्ड रचा। जिला निर्वाचन अधिकारी शिवप्रसाद मदन नकाते और सैकड़ो बालिकाएं इस नए रिकॉर्ड की साक्षी बनी। इसमें सबसे दिलचस्प बात यह है कि देश की सबसे बड़ी साँप सीढ़ी का रिकॉर्ड जिसके नाम दर्ज है उन्ही ने यह नया रिकॉर्ड बनाया है।उप जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि बाड़मेर में मतदाता जागरूकता को समर्पित गेम शो के जरिये लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में देश की सबसे बड़ी साँप सीढ़ी का नया रिकॉर्ड बनाया गया।

जिला मुख्यालय पर मुल्तानमल भीखचन्द छाजेड़ महिला महाविद्यालय में मंगलवार को आयोजित हुए कार्यक्रम में जिला निर्वाचन अधिकारी शिव प्रसाद मदन नकाते ने खेल खेल के जरिये मतदान के जरिये जागरूकता की इस अनूठी मुहिम को सराहा। उन्होंने कहा कि इस तरह के नवाचारों से सहजता से जनजागरण का संदेश मुखर होता है। उन्होंने अनिवार्य मतदान की शपथ भी दिलवाई।

सहायक नोडल अधिकारी मुकेश पचौरी ने बताया कि मंगलवार को बाड़मेर मतदान जागरूकता कार्यक्रम में नया कीर्तिमान स्थापित किया। मतदान जागरूकता कार्यक्रम में राज्य में पहली बार नेशनल रिकॉर्ड को बनाया गया। पचौरी के मुताबिक अब तक देश की सबसे बड़ी साँप सीढ़ी का लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की डब्ल्युएसएसओ इकाई के आईईसी कंसल्टेंट अशोकसिंह राजपुरोहित के नाम है और वह 900 वर्ग फीट का है।

इस रिकॉर्ड को तोड़ते हुए बाड़मेर जिला प्रशासन की ओर से 1600 वर्ग फीट की साँप सीढ़ी के साथ मतदाता जागरूकता को समर्पित गेम शो के जरिये लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में देश की सबसे बड़ी साँप सीढ़ी का नया रिकॉर्ड बनाया गया।अमित माथुर ने इस साँप सीढ़ी की डिजाइन की है।राजस्थान में मतदाता जागरूकता में यह पहला नेशनल रिकॉर्ड है जोकि बाड़मेर निर्वाचन विभाग के नाम दर्ज हुआ है।

पायल जैन बनी पहली विजेता, जिला निर्वाचन अधिकारी ने दी बधाई
नए नेशनल रिकॉर्ड के साक्षी बने कॉलेज के विधार्थियो में साँप सीढ़ी की प्रतियोगिता करवाई गई जिसमें पहली विजेता पायल जैन और दूसरी विजेता शबनम बनी। अमित माथुर द्वारा डिजाइन इस साँप सीढ़ी के 2 खेल करवाने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने विजेताओं को पुरुस्कृत किया साथ ही आयोजन में सक्रिय भागीदारी के लिए भारती माहेश्वरी, वर्षा सोलंकी और अमीषा भाटी को भी जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्मृति चिन्ह दिए साथ ही उन्होंने नए रिकॉर्ड को बनाने वाले अशोक सिंह राजपुरोहित को भी स्मृति चिन्ह भेंट किया।आयोजन में अपने संबोधन में जिला निर्वाचन अधिकारी शिव प्रसाद मदन नकाते ने कहा कि बिना किसी भय और बहकावे में मतदान करना चाहिए। उन्होंने युवाओं से लोकतंत्र के इस पर्व में अधिक से अधिक भागीदारी निभाने का आह्वान किया।

आयोजन में कन्या महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर ललिता मेहता, डॉक्टर मुकेश पचौरी, डॉक्टर हुकुमाराम सुथार, डॉक्टर लक्ष्मी नारायण जोशी, देवाराम चौधरी, डॉक्टर मृणाली चौहान, अमित माथुर समेत कई गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

मतदान नियमो की अनदेखी पर काटेगा साँप
स्वीप साँप सीढ़ी में मतदाता सूची में अपना नाम जुडवाना, मतदान के दिन अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करना ,सही उम्मीदवार को मतदान,भेदभाव मुक्त मतदान, योग्य युवाओं को मतदाता सूची में नाम जुडवाने के लिए प्रेरित करना, बुज़ुर्ग –दिव्यांग मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करना और सहयोग करना, मतदान में गड़बड़ी की आशंका पर कण्ट्रोल रूम, सी विजिल एप पर सूचना पर, प्रगति की सीढ़ियां है।

वहीं इस गेम शो में मतदाता सूची के प्रति लापरवाही , मतदान के प्रति उदासीनता, लोभ लालच में मतदान, भेदभाव पूर्ण मतदान, दबाव में मतदान, भ्रामक प्रचार,अफवाह फैलाने और दबाव में मतदान करने पर साँप काटता है। साँप सीढ़ी के इस गेम के जरिये सहजता से मतदान जागरूकता का संदेश दिया गया।

Web Title : Snake Stairway Sleeping With The New National Record