सजा हो तो ऐसी! शिक्षक को छेड़खानी पर घर पोस्टिंग का मिला इनाम, यहां पढ़ें पूरी खबर….

ये कैसी सजा,,,,,,
-शिक्षक ने की थी छात्रा के साथ छेड़खानी, अब शिक्षा विभाग ने आरोपी शिक्षक को उसी के गांव में पोस्टिंग दी !
– ब्लॉक शिक्षा अधिकारी के आदेश को लेकर ग्रामीणों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

पचपदरा@जितेन्द्रसिंह खारवाल !
इसे सजा कहें या सुविधा की सौगात! सरकारी मायनों में अगर ये सजा हैं, तो सिर मत्थे पर और कोई भी इसे भुगतने से मनाही नहीं करेगा। दरअसल मामला जुडा है सांगरानाडी के सरकारी स्कूल में एक छात्रा के साथ छेडछाड के प्रकरण से। स्कूल में कार्यरत शिक्षक सम्पतराज जीनगर ने सातवी जमात में पढने वाली मासूम बच्ची के साथ कक्षा रूम में छेडछाड व अष्लील हरकत की। मामले ने तूल पकडा और पीडिता के पिता की रपट पर पचपदरा पुलिस थाने में आरोपित शिक्षक के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत मामला भी दर्ज कर लिया गया।

शिक्षक की इस घटिया करतूत से खफा ग्रामीणों में गुस्सा इतना ज्यादा था कि वे स्कूल पर ताला जडकर धरने पर बैठ गए। पुलिस, प्रशासन व शिक्षा विभागीय अधिकारियों ने जैसे-तैसे कर मामले को शांत करवाया। प्रकरण दर्ज होते ही पुलिस ने अनुसंधान व कारवाई षुरू कर दी। ग्रामीणों के गुस्से व गिरफतारी के डर से आरोपित शिक्षक तो स्कूल ही नहीं आया और भूमिगत हो गया। लेकिन शिक्षा विभाग के ब्लॉक प्रारम्भिक षिक्षा अधिकारी पाटोदी ने तत्काल कारवाई के नाम पर जो किया, वह हर किसी को अखर रहा है। आरोपित शिक्षक को यहां से तुरन्त प्रभाव से ए.पी.ओ. कर उसका मुख्यालय सांगरानाडी स्कूल से महज तीन किलोमीटर दूर पाटोदी ब्लॉक कार्यालय कर दिया गया।

मजेदार बात यह है कि आरोपित शिक्षक उसी पाटोदी गांव का मूल रहवासी हैं, जहां उसका मुख्यालय किया गया है। ऐसे में यह बात समझ नहीं आ रही कि बदमाषी करने वाले शिक्षक को विभाग ने सजा दी है कि उसकी सुविधा को तरजीह देते हुए वहीं भेजने के आदेश दिये है, जहां का वह रहवासी है। एक लिहाज से देखा जाय तो आरोपित शिक्षक के लिए यह आरोप रामबाण सुविधा साबित हुआ है। रोजाना तीन किलोमीटर दूर स्कूल जाने की बजाय उसे होम टाउन की सुविधा मिल गई है। हां, कार्रवाई के नाम पर सजा तब गिनी जाती, जब उसे जिला मुख्यालय या फिर किसी अन्य ब्लॉक मुख्यालय पर भेजने के आदेश किये जाते। ब्लॉक शिक्षा अधिकारी पाटोदी के इन आदेशों को लेकर ग्रामीणों में काफी चर्चा है।

पाटोदी किया है मुख्यालय-आरोपित शिक्षक सम्पतराज जीनगर को ए.पी.ओ. करने के बाद इस अवधि के दौरान उसका मुख्यालय पाटोदी ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय किया गया है।
मगाराम पूनिया
ब्लॉक प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी,पाटोदी

Web Title : Teacher got reward for getting home posting