चूरू ACB की बड़ी कार्रवाई, 8 हजार की रिश्नत लेते सूचना सहायक धर्मेंद्र और दलाल भवानी सिंह ट्रैप

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की चुरु टीम ने जिले के सुजानगढ़ जिला परिवहन कार्यालय में कार्यरत एक सूचना सहायक और उसके दलाल को 8,000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की यह रकम गाड़ी का नंबर अलॉट करने की एवज में दलाल के मार्फत मांगी जा रही थी। इस पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो टीम के प्रभारी पुलिस इंस्पेक्टर रमेशचंद माचरा के नेतृत्व में कार्रवाई की गई।

चूरू: जिले में एसीबी की टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई है. टीम ने कार्रवाई करते हुए डीटीओ ऑफिस के सूचना सहायक और उसके दलाल को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. आरोपी ने परिवादी से दस हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी, लेकिन उसका सौदा आठ हजार में तैय हुआ. इस दौरान एसीबी की टीम ने आरोपियों को रंगे हातों गिरफ्तार किया. एंटी करप्शन ब्यूरो चूरू की टीम ने बुधवार को कार्रवाई करते हुए आरोपियों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की चुरु टीम के प्रभारी पुलिस इंस्पेक्टर रमेशचंद माचरा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी धर्मेंद्र कुमार, डीटीओ कार्यालय सुजानगढ़ में सूचना सहायक है. परिवादी अलीशेर ने दिल्ली से बोलेरो गाड़ी खरीदी थी. जिसमें वह राजस्थान का नंबर करवाना चाहता था. डीटीओ कार्यालय सुजानगढ़ के सूचना सहायक धर्मेंद्र से इस संबंध में बात की तो उसने अपने दलाल भवानी सिंह राजपूत के माध्यम से दस हजार की रिश्वत की मांग की. इस पर दलाल ने जब परिवादी को समझाया तो आठ हजार रुपए में उनका सौदा तय हुआ.

इसका परिवाद चूरू एसीबी कार्यालय में मंगलवार को हुआ था. जिसकी पुष्टि कर बुधवार को परिवादी को रकम देनी थी. इसके बाद एसीबी चूरू के नेतृत्व में एक टीम गठित की गयी. फिर सुजानगढ़ डीटीओ कार्यलय में जब परिवादी पैसे देने लगा तो पहले से धाक लगाए बैठी टीम ने भ्रष्ट डीटीओ कार्यालय के सूचना सहायक धर्मेंद्र कुमार और उसके दलाल भवानी सिंह राजपूत को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

पूरे मामले में सबसे गंभीर बात रही कि परिवादी अलीशेर शिकायत लेकर जब सुजानगढ़ डीटीओ ओ.पी.बुडानिया के पास गए तो डीटीओ ने भी मामले से पल्ला झाड़ लिया. वहां, परिवादी की बात को अनदेखा कर दिया और नियमों का हवाला दे बातों को टाल दिया गया. उसके बाद थक-हार के परिवादी को चूरू एसीबी की शरण लेनी पड़ी. जिसके चलते एसीबी की टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया और आरोपियों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया. और उनसे रिश्वत की रकम बरामद कर ली. आरोपियों से पूछताछ की जा रही है.

Web Title : The big operation of the Churu ACB, taking information of 8 thousand rupees