PM जनसंवाद के बाद जयपुर से लौट रही बस खड्डे में गिरी, 40-45 लाभार्थी हुए हैं घायल

सिरोही: राजधानी जयपुर में शनिवार को हुई पीएम मोदी की जनसभा में प्रदेश भर से लाखो लोग शामिल हुए थे जो सरकार की योजनाओं के लाभान्वित है। सिरोही से भी उज्जवला योजना के लाभान्वितों को लेकर एक बस जयपुर पहुंची थी। जो कार्यक्रम के बाद लौटते वक्त हादसे का शिकार हो गई।

दरअसल नेशनल हाइवे संख्या 62 पर रविवार सवेरे करीब तीन बजे जयपुर में आयोजित प्रधानमंत्री-लाभार्थी जनसंवाद रैली से लौट रही लाभार्थियों की बस खड्डे में गिर गई। सिरोही इस दुर्घटना में 40 से 45 लाभार्थी घायल हो गए। इन घायलों में भुला गांव सरपंच कन्हैयालाल भी शामिल हैं। पुलिस और चिकित्सालय प्रशासन के अनुसार मामूली और ज्यादा चोटग्रस्त 57 लोग चिकित्सालय पहुंचाए गए। सूचना मिलते ही सभी घायलों को सिरोही जिला चिकित्सालय पहुंचाया गया। इनमें से गंभीर रूप से घायल दो मरीजों को उदयपुर रेफर किया गया। यह बस सिरोही जिले की पिण्डवाड़ा तहसील के भूला गांव के आदिवासी थे।

सिरोही से प्रधानमंत्री की रैली में शुक्रवार को सिरोही जिले से करीब चार हजार लाभार्थियों को बसों से जयपुर भेजा गया था। पिण्डवाड़ा तहसील के भूला गांव के गमेती आदिवासियों की करीब 60 लाभार्थियों की बस भी इसमें शामिल थी। रैली के बाद सिरोही लौटते समय सिरोही जिले के पालड़ी एम थाना क्षेत्र में उथमण स्थित टोल नाके को पार करते ही यह बस अनियंत्रित हो गई और सडक के किनारे खड्डे में जा गिरी। सूचना मिलते ही पालड़ी एम पुलिस और स्थानीय प्रशासन के पदाधिकारी व ग्रामीण मौके पर पहुंचे। उन्होंने बस में सवार लोगों को निकलने में मदद की और इन्हें सिरोही जिला चिकित्सालय पहुंचाया। लाभार्थियों की बस गिरने से प्रशासन में भी हड़कम्प मच गया। घायलों के चिकित्सालय पहुंचते ही अफरातफरी मच गई। चिकित्सकों ने चिकित्सालय पहुंचकर इनका उपचार शुरू किया।

जिला कलक्टर बाबूलाल मीणा ने बताया कि इस दुर्घटना में 40-45 लोग घायल हुए। इनमें से दो गंभीर रूप से घायल हैं। जिन्हें एहतियात के तौर पर उदयपुर रेफर कर दिया गया है। वहीं आठ लोगों को सिरोही चिकित्सालय में आॅब्जर्वेशन में रखा हुआ है शेष लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्होने बताया कि बस में लाभार्थियों की संख्या की जानकारी अभी नहंी मिली है। वहीं चिकित्सालय सूत्रों के अनुसार चिकित्सालय में 57 लोगों का छोटा बड़ा उपचार किया गया है।

-मचा हड़कम्प, पहुंचे कलक्टर
लाभार्थियों की बस के दुर्घटनाग्रस्त होने की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारियों और भाजपा नेताओं में भी खलबली मच गई। जिला कलक्टर बाबूलाल मीणा और भाजपा जिलाध्यक्ष लुम्बाराम चैधरी सवेरे साढे़ चार बजे ही जिला चिकित्सालय पहुंच गए। इनके अलावा सीएमएचओ डा सुशील कुमार परमार भी चिकित्सालय पहुंचे।

विपक्षी नेता भी पहुंचे
दुर्घटना की सूचना मिलने पर कांग्रेस के पूर्व विधायक संयम लोढ़ा और जिलाध्यक्ष जीवाराम चैधरी भी जिला चिकित्सालय पहुंचे। इन लोगों ने घायलों की कुशलक्षेम पूछी। घायलों में एक गर्भवती महिला भी शामिल थी। इसे देखकर लोढ़ा ने रोष जाहिर किया। उन्होंने बसों में भीड़ बढ़ाने के लिए गर्भवती महिला और उसके अजन्में बच्चे की जिंदगी से खिलवाड़ करने के प्रशासनिक रवैये पर रोष जताया।

लोढ़ा ने बताया पिण्डवाड़ा के उपखण्ड अधिकारी परबतसिंह चुण्डावत से इस पर बात की, लोढ़ा ने बताया कि चुण्डावत ने इसे पंचायत स्तर पर की गई चूक बताया। प्रसूति रोग विशेषज्ञ डाॅ निहालसिंह से गर्भवती की कोख के बच्चे के जीवित होने की जानकारी भी ली। चिकित्सक ने महिला का गर्भ सुरक्षित होने की बात कही।

Web Title : The bus coming back from Jaipur after the PM public dialogue has fallen into the pits.