राजस्थान के सुंदर गुर्जर ने रचा इतिहास, विश्व पैरा एथलेटिक्स में भारत को दिलाया पहला स्वर्ण

नई दिल्ली: लंदन में चल रही वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पहले दिन भारतीय पैरा एथलीटों ने गोल्ड जीतकर चैंपियनशिप की शानदार शुरुआत की. विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भाला फेंक खिलाड़ी सुंदर सिंह गुर्जर ने 2017 आईपीसी पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत को पहला पदक दिलाकर इतिहास रच दिया.

पैरालंपिक स्वर्ण पदक विजेता देवेंद्र झझारिया की गैर मौजूदगी में सुंदर ने टूर्नामेंट के पहले ही दिन 60.36 मीटर के निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ सोने का तमगा अपने नाम कर विश्व चैंपियन बन गए है. सुंदर रियो 2016 में तकनीकी कारणों से डिस्क्वालीफाई हो गए थे.

राजस्थान के रहने वाले 21 वर्षीय सुंदर ने जीत हासिल करने के बाद कहा कि रियो में डिस्क्वालीफाई होने के बाद मैं बेहद निराश था. उसके लिए मैंने कड़ी तैयारी की थी. मेरा आत्मविश्वास पूरी तरह गिर गया था. लेकिन मैं वापसी करके खुश हूं. मैंने इसके लिए तैयारी की थी, लेकिन ओलंपिक की तुलना में यह कम थी. स्वर्ण पदक जीत मुझे बहुत उत्साहित करेगी. मैं यहां से और भी अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा और अगले साल होने वाले एशियाई खेलों में भी शानदार प्रदर्शन करूंगा.

सुंदर गुर्जर की जीत पर उन्हें बधाई देने वालो का तांता लग गया है. राज्य पैरालिम्पिक कमेटी ने उन्हें बधाई दी. कहा ACS जेसी महान्ति, खेल परिषद के पूर्व अध्यक्ष शिवचरण माली ने भी बधाई दी. जीत के बाद राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ट्विट कर सुंदर को बधाई दी. उन्होंने लिखा कि सुंदर आप पर सभी को गर्व है, इधर राजस्थान खेलमंत्री गजेंद्र खींवसर ने भी सुंदर सिंह गुर्जर को बधाई दी. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने बधाई देते हुए कहा कि ‘सुंदर ने बढ़ाया प्रदेश का मान.

 

Web Title : The first gold brought to India in the history of world parade athletics by beautiful Gujjar, Rajasthan