इस महिला अधिकारी ने साफा पहनकर निपटाए सरकारी कामकाज, लोगों ने की तारीफ

जोधपुर/भोपालगढ़। जोधपुर जिला प्रशासन की ओर से आयोजित किए जा रहे मारवाड़ महोत्सव के तहत बुधवार को संपूर्ण जिले में साफा दिवस का आयोजन किया गया। इसके तहत जहां एक ओर आमजन को इस दिन मारवाड़ की आन-बान और शान का प्रतीक साफा पहनने का आह्वान किया गया है। वहीं दूसरी ओर इस अभियान के तहत भोपालगढ़ में उप जिला कलक्टर के पद पर कार्यरत राजस्थान प्रशासनिक सेवा की महिला अधिकारी डॉक्टर अभिलाषा चौधरी साफा पहन कर कार्यालय पहुंची और दिन भर सिर पर साफा बांधे हुए ही सरकारी कामकाज निपटाए। जिसे देख कई लोग अचंभे में पड़ते नजर आए। वहीं कई लोगों ने उनसे प्रेरणा लेकर आज पूरे दिन साफा भी बांधा।

मारवाड़ की संस्कृति और विरासत को समृद्ध बनाने और इस परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से मनाए जा रहे मारवाड़ महोत्सव के तहत जोधपुर जिला कलेक्टर डॉक्टर रवि कुमार सुरपुर ने बुधवार को जिले के सभी लोगों से सिर पर मारवाड़ी आन-बान-शान का प्रतीक साफा बांधने का आहवान किया था। जिसके तहत इस कड़ी को आगे बढ़ाते हुए राजस्थान व मारवाड़ की साफा संस्कृति के संवर्धन एवं समाज में महिला-पुरुष समानता का संदेश पहुंचाने के लिए भोपालगढ़ में उप जिला कलेक्टर के पद पर कार्यरत महिला आरएएस अधिकारी डॉक्टर अभिलाषा चौधरी भी न केवल साफा पहन कर अपने कार्यालय पहुंची, बल्कि पूरे दिन सिर पर साफा बांधे हुए ही सरकारी कामकाज निपटाए।

इस दौरान उन्होंने कहा कि साफा हमारी वीरता और इज्जत का प्रतीक है और इसे केवल पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी पहनकर अपनी सामाजिक संस्कृति को मजबूत एवं अक्षुण्य बना सकती है। वहीं दूसरी ओर उपखंड अधिकारी डॉक्टर अभिलाषा चौधरी को साफा पहन कर अपने कार्यालय में कामकाज करते हुए जिन लोगों ने भी देखा वे एकबारगी आश्चर्य में पड़ गए और जब उन्हें मारवाड़ समारोह एवं जिला कलेक्टर की अपील के बारे में जानकारी हुई तो कई लोगों ने एवं खासकर युवा वर्ग ने भी साफा पहनने का संकल्प किया। और फिर पूरे दिन कई लोगों ने साफे भी बांधे।

Web Title : The lady officer dealing with safflower disposed government work