उदयपुर: प्रेमी युगल को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया, चार गिरफ्तार

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर जिले के सुखेर थाना क्षेत्र में इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। कैलाशपुरी के सरेखुर्द गांव में एक 23 वर्षीय महिला और उनके 22 वर्षीय प्रेमी को नग्न करके रस्सी से बांधकर घुमाया गया। इस घटना को सुनकर सिर्फ पुलिस विभाग ही नहीं बल्कि महज 25 किलोमीटर की दूरी पर शहर में रहने वाले लोग भी आश्चर्यचकित हैं।

प्रेमी जोड़े को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया के मामले पर राज्य महिला आयोग ने संज्ञान लिया है। महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने प्रेमी जोड़े को निर्वस्त्र कर घुमाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए। उदयपुर पुलिस जल्द से जल्द कार्रवाई कर जांच रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए है। आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने कहा कि उदयपुर में प्रेमी जोड़े को निर्वस्त्र कर घुमाने की ये घटना बड़ा गंभीर अपराध है। इस दौरान ग्रामीण मारपीट करते रहे और महिलाएं तक तमाशबीन बन ये कृत्य देखती रहीं। सुबह घटनाक्रम का ग्रामीणों ने वीडियो भी बनाया और शाम तक वायरल कर दिया। इसके बाद मामला मीडिया के जरिये एसपी के पास पहुंचा। उन्होंने पुलिस को जांच करने के आदेश दिए। बाद में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। 

पुलिस के मुताबिक, महिला की पहली शादी तरु गमेती नाम के शख्स के साथ पांच साल पहले हुई थी। हालांकि, वे ‘छूत पल्ला’ परंपरा की वजह से अलग हो गए थे। इसके बाद महिला ने मंगीलाल गमेती नाम के शख्स से दूसरी शादी कर ली थी। पहली शादी के दौरान महिला का सरेखुर्द गांव के रहनेवाले रामलाल गमेती से प्रेम संबंध शुरू हो गया था। दूसरी शादी के बाद वह अपने प्रेमी से मिलती रहीं। इसी दौरान गुरुवार को जब वह रामलाल से मिलने सरेखुर्द पहुंचीं तो उनका पहला पति योजनाबद्ध तरीके से वहां पहुंच गया। वह इस बात को सोचकर अपमानित कर रहे थे कि रामलाल भी उसी के गांव का रहनेवाला है, जिसमें वह रहता है।

सूत्रों के मुताबिक, महिला और उनके प्रेमी ने गुपचुप तरीके से विवाह करने की योजना भी बनाई थी। इस पूरी घटना के दौरान शुक्रवार को तरु ने अपने चाचा लालूराम और अपने मित्र हरीश के साथ मिलकर महिला समेत उनके प्रेमी पर हमला कर उन्हें बांध दिया। उन्होंने दोनों को एक रस्सी के जरिए बांधकर पूरे गांव में घुमाया। कुछ लोगों ने मामले में हस्तक्षेप करके उन्हें छुड़ाया और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को अपने साथ थाने ले आई। उदयपुर में हुआ यह इस तरह का कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले वर्ष 2016 के जून महीने में भी एक महिला और उनके पति को कसोटिया और कनोड तहसील में दो दिन और रात तक नग्न अवस्था में घुमाया गया था।

 

Web Title : Udaipur: Discharged the lover couple and moved to the village