अंडर 20 COTIF कप: अर्जेंटीना पर भारत की बड़ी जीत, ये है मात देने वाले गोलवीर

नई दिल्ली: फुटबॉल में फिसड्डी माने जाने वाले भारत ने जब अंडर 20 COTIF कप फुटबॉल चैंपियनशिप में दुनिया की दिग्गज माने जाने वाली और 6 बार की अंडर 20 विश्वकप चैंपियन अर्जेंटीना को 2-1 से हराया, तो सहसा किसी को विश्वास नहीं हुआ। सोमवार का दिन भारतीय फुटबॉल इतिहास के सुनहरे पन्नों में दर्ज हो गया। 10 खिलाड़ियों से खेलते हुए भारत ने अर्जेंटीना जैसी दिग्गज टीम को पटखनी देकर पूरी दुनिया का फोकस अपनी तरफ मोड़ लिया। भारत की तरफ से पंजाबी मुंडे दीपक टांगरी और अनवरी अली ने गोल किए।Deepak Tangri

आइए जानते हैं भारत के इन गोलवीरों के बारे में…

टांगरी ने मोहन बगान से की थी फुटबॉल की शुरुआत
पंजाब के रहने वाले फुटबॉलर टांगरी ने मोहन बगान से अपने करियर की शुरुआत की थी। टांगरी ने 2014 में मोहन बगान अकादमी जॉइन किया था। इस खिलाड़ी ने अंडर 16, 18 और अंडर 19 में मोहन बगान का नेतृत्व किया है। सेंटर बैक पोजीशन से खेलने वाले टांगरी करीब तीन साल तक मोहन बगान की जूनियर टीम से खेले थे।

खुद को बताते हैं सेल्फी किंग
टांगरी खुद को प्रैंकस्टार और सेल्फी किंग भी कहते हैं। खाली समय में टीम के सदस्यों के साथ मौज-मस्ती करने वाले टांगरी ने अपने प्रदर्शन से ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन का ध्यान अपनी ओर खींचा और फिर उन्हें भारत की अंडर 19 टीम में खेलने का मौका मिला। टांगरी ने 2017-18 में आई लीग में प्रफेशनल डेब्यू किया।

टांगरी का किक्रेट से भी है रिश्ता 
आपको जानकर हैरानी होगी कि अर्जेंटीना के खिलाफ भारत की जीत में चमकने वाले टांगरी भारतीय क्रिकटरों को काफी पसंद करते हैं। खाली समय में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बॉयो पिक्स देखना पसंद करते हैं।

फुटबॉलर के बेटे अनवर का करिश्मा 
पंजाब में ही पैदा हुए भारतीय टीम के डिफेंडर अनवर ने इस टूर्नमेंट के लिए काफी पसीना बहाया था। जालंधर जिले के आदमपुर में मिलैनियम ईयर 2000 में पैदा हुए अनवर 2017 में अंडर 17 विश्वकप में भारत की तरफ से खेल चुके अनवर के फुटबॉलर बनने की कहानी भी कम रोचक नहीं है। अनवर के पिता ने उन्हें फुटबॉलर बनाया। अनवर के पिता खुद भी फुटबॉल खेलते थे। अनवर ने फुटबॉल का ककहरा मिनर्वा अकादमी से सीखा है।

‘परिवार की प्ररेणा से आगे बढ़ा’
अनवर ने कहा था कि वह अपने परिवार की प्रेरणा से ही यहां पहुंचे हैं। तीन बहनों के भाई अनवर जब फुटबॉल की प्रैक्टिस करते थे तो उनकी बहनें उन्हें चियर करती थीं। मुश्किल वक्त में उनका परिवार हमेशा उनके साथ खड़ा रहता था।

ISL टीम मुंबई सिटी FC ने रेकॉर्ड कीमत में खरीदा

अनवर को इंडियन सुपर लीग (ISL) की मुंबई सिटी एफसी टीम ने 30 लाख रुपये में अनवर को खरीदा था। अंडर 18 में खेल रहे किसी खिलाड़ी के लिए यह एक रेकॉर्ड कीमत थी।

Web Title : Under 20 COTIF Cup: India's big victory over Argentina