केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत ने काजरी में कृषि मेले का किया उद्घाटन, बोले- कृषि योजनाओं से जुड़कर लें लाभ

जोधपुर। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (काजरी) जोधपुर में राज्य स्तरीय तीन दिवसीय मेले का उद्घाटन कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री भारत सरकार गजेन्द्र सिंह शेखावत ने किया। उन्होंनें किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के प्रयास जारी है। खेती की लागत को कम करने की दिशा में विभिन्न योजनाओं के माध्यम से कार्य किए जा रहे है। अधिक उपज के लिए जरूरी है कि जमीन का स्वास्थय अच्छा हो। इसके लिए मृदा स्वास्थय कार्ड योजना शुरू की गई और अब तक करोड़ों किसानों के मृदा स्वास्थय कार्ड बन गए है। मिट्टी की जांच के लिए दस हजार सेंटर खोले गए ताकि जमीन को जितनी मात्रा में पोषक तत्वों की आवश्यकता हो उसी अनुसार दी जाए।

खाद की उपलब्धतता को बढाने के लिए नीम कोटेड यूरिया की उपलब्धतता को बढाने की व्यवस्था की गई। कृषक शोध क्षेत्रों को देखें, समझे, नवीन तकनीकियों, कृषि पद्धतियों को देखने, परखने, कौशलता हासिल करने से खेती का काम भी सरलता से होगा। फसल के अच्छे दाम मिले इसके लिए मंडियों को कम्प्यूटर से जोड़ा गया। कैर राजस्थान के अधिकांश जिलो में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। इसके फल भी बहुत महंगे बिकते है तथा बाजार में इनकी माग भी बहुत है। इसके लिए उन्होंनें काजरी निदेशक को इस पर शोध करने की जिम्मेदारी सौंपी है ताकि खेतों की बाउंडरी पर इन्हें लगाया जा सके और किसान को उससे लाभ हो।

पीएम ने भी की प्रशंसा
सैटेलाइट के माध्यम से खेतों की तस्वीर लेने पर कार्य चल रहा है ताकि खेत एवं फसल की स्थिति की सीधी जानकारी मिल पाएगी। शेखावत ने कहा कि अफ्रीका में 190 देशों के प्रतिनिधियों के सामने जब उन्होंनें देश में खेती करने के तरीकों के बारे में जानकारी दी तो सभी ने भारत में की जा रही खेती की प्रशंसा की। दुनिया में भारत खाद्यान्न, दूध, फल उत्पादन के क्षेत्र में अग्रणी है तथा मांस, मछली उत्पादन में द्वितीय स्थान पर है और विदेशों को निर्यात किया जाता है।उन्होनें किसानों, वैज्ञानिकों से देश को शक्तिशाली, सशक्त एवं खुशहाल बनाने के लिए मिलजुल कार्य करने का आह्वान किया।

शेखावत ने बताया कि काजरी द्वारा टिश्यू कल्चर तकनीकी से तैयार खजूर के पौधें की एडीपी-1 प्रजाति के लाल रंग के स्वादिष्ट मीठे खजूर का जायका प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खजूर फलों की प्रशंसा की। इस मौके पर प्रगतिशील किसानों लेह लद्दाख, जम्मू कश्मीर की श्रीमती जेनप परवीन, नागौर के ताराचन्द, उटाम्बर के आइदान राम,दांतीवाड़ा के भींयाराम, लूणी जोधपुर के पाबूराम पटेल को काजरी किसान मित्र सम्मान से नवाजा गया। काजरी द्वारा बनाई गई दो सीडी शुष्क क्षेत्रों का समन्वित विकास और सफलता की कहानी किसानों की जुबानी का विमोचन किया गया।

ये थे कार्यक्रम में मौजूद
कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि लूणी विधायक जोगाराम पटेल ने कहा कि वर्तमान में किसान पारम्परिक खेती से वैज्ञानिक खेती की ओर अग्रसर हो रहे है। उन्होंनें खेजड़ी, रोहिड़ा, कैर के आर्थिक महत्वए उपयोगिता को बताते हुए उनको बढावा देने को कहा। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए काजरी निदेशक डॉ.ओपी यादव ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंनें कहा प्रधानमंत्री द्वारा कृषि के विकास पर विशेष ध्यान देने एवं विभिन्न किसान कल्याण योजनाओं के प्रारम्भ होने से पूरे देश में किसानों एवं इण्डस्ट्रीज में नई सोचए नई उर्जा उत्पन्न हुई।

इस मौके पर कृषि विश्वविद्यालय जोधपुर के कुलपति डॉ.बलराज सिंह, संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता, नाबार्ड के सीजीएम आरके थानवी, सीआईएएच बीकानेर के निदेशक डॉ. पीएल सरोज ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर सीएसडब्लूआरआई अविकानगर के निदेशक डॉ. एके तोमर, उष्ट अनुसंधान बीकानेर के डॉ. एनवी पाटिल, अटारी के निदेशक एसके सिंह, एनआरसीएसएसए अजमेर के निदेशक गोपाल लाल तथा पूर्व लूणी प्रधान शैलाराम सारण उपस्थित थे। मेला संयोजिका एवं विभागाध्यक्ष डॉ. प्रतिभा तिवारी ने कहा किसान शोध क्षेत्रों में खड़ी फसल को देखे एवं जानकारी ले, जीवन्त फसल प्रदर्शन देखने से मन में विश्वास बढता है। मेले में 3000 से अधिक किसानों, महिलाओं विद्यार्थियों ने भाग लिया कार्यक्रम का संचालन गजे सिंह जोधा ने किया।

Web Title : Union Minister of State for Agriculture Gajendra Singh Shekhawat inaugurated state level three-day agricultural fair in Kajri