यूपी: गोहत्या को लेकर बुलंदशहर में भड़की हिंसा, पथराव-आगजनी में इंस्पेक्टर सहित 2 की मौत

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक पुलिस इंस्पेक्टर गोकशी को लेकर हुई भीड़ की हिंसा का शिकार हो गया. बुलंदशहर के सयाना थाना क्षेत्र में भीड़ के पथराव में घायल इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत हो गई जबकि एक कॉन्स्टेबल बुरी तरह ज़ख्मी है. हिंसा सोमवार सुबह तब शुरू हुई जब गांव में 25 पशुओं के शव मिले. लोगों का आरोप था ये गांव के ही दूसरे समुदाय के लोगों ने गोकशी की है. इसके बाद वहां तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई. हालात तब बेकाबू हो गए जब भीड़ ने पुलिसवालों पर पथराव शुरू कर दिया  पुलिस चौकी को आग लगा दी और गाड़ियों में आगजनी की. खबरों के मुताबिक पुलिस ने हवा में फ़ायरिंग की और लाठीचार्ज भी किया लेकिन हालात काबू में नहीं आए.

दरअसल, मामला ये है कि स्याना के चिंगरावटी इलाके में आज सुबह ग्रामीणों को गोकशी की सूचना मिली थी. हिंदू संगठन के लोगों को जैसे ही गोहत्या की सूचना या अफवाह मिली, उसके बाद संगठन के लोग सड़कों पर उतर आए. मौके पर गए ग्रामीणों ने कुछ लोगों को कटान करते देखा और इसके बाद उन्हें दौड़ाया भी. बुलंदशहर : गोकशी के शक में भड़की भीड़, पथराव-आगजनी में इंस्‍पेक्‍टर की मौतआरोपी मौके से भाग गए तो ग्रामीणों ने पुलिस को मौके पर बुलाया. लेकिन आरोप है कि मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया. इसके बाद ग्रामीणों की सूचना पर वहां हिंदूवादी संगठनों के नेता भी पहुंच गए और सब ने मिलकर बुलंदशहर हाईवे जाम कर दिया. इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस चौकी में आग लगा दी और एक दर्जन से ज्यादा वाहनों को आग के हवाले कर दिया. प्रदर्शनकारियों के पथराव, फायरिंग और आगजनी में पुलिस इंस्पेक्टर की मौत हो गई. इसके अलावा पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक प्रदर्शनकारी को गोली लगी जिसकी अस्पताल में मौत हो गई. घटना में कई और पुलिसकर्मी और प्रदर्शनकारी भी घायल हुए हैं.

दरअसल प्रदर्शनकारी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखे जाने और उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा कर रहे थे. प्रदर्शनकारियों ने जो जाम लगाया था वो करीब 2 घंटे तक जाम बना रहा और इस दौरान पुलिस और उनके बीच तीखी झड़प भी हुई. मगर इसके बाद मामला और बिगड़ गया. उग्र हुए प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के ऊपर पथराव शुरू कर दिया. पुलिसवालों ने चौकी में घुसकर अपनी जान बचानी चाही तो प्रदर्शनकारी वहां भी पहुंच गए और चौकी के अंदर ईट-पत्थर बरसाने लगे.Violence in Bulandshahr against cow slaughter, situation tensed

बवाल की सूचना पर स्याना से मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक सुबोध कुमार और उनकी टीम ने भीड़ को कंट्रोल करने के लिए हवाई फायरिंग भी की. इसी दौरान एक गोली स्थानीय युवक सुमित की छाती में लग गई जिसके बाद भीड़ और ज्यादा हिंसक हो गई. आरोप है कि प्रदर्शनकारियों की ओर से भी गोली चलाई गई जिसमें से एक गोली स्याना के प्रभारी निरीक्षक सुबोध कुमार को लगी है. उसके तुरंत बाद सुबोध कुमार को औरंगाबाद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए ले जाया  गया, जहां उनकी मौत हो गई.UP bulandshahr cow slaughter case mob attacks police station, One police dead | यूपी: गोहत्या को लेकर बुलंदशहर में भड़की हिंसा, इंस्पेक्टर की मौत, दो लोग जख्मी

पथराव और गोलीबारी में कई प्रदर्शनकारियों के अलावा चिंगरावटी पुलिस चौकी के इंचार्ज सुरेश घायल हुए हैं. इसके अलावा इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का हमराह भी गंभीर रुप से जख्मी है. सूचना है कि आक्रोशित भीड़ ने पुलिस चौकी में घुसकर वहां खड़े सभी वाहनों में आग लगा दी. इसके बाद एक सब-इंस्पेक्टर की निजी कार को भी आग के हवाले कर दिया गया. कई राहगीरों को भी प्रदर्शनकारियों ने अपना निशाना बनाया और उनके वाहन आग के हवाले कर दिए. एक न्यूज़ चैनल के पत्रकार की मोटरसाइकिल भी प्रदर्शनकारियों ने फूंक दी. पूरी घटना की जानकारी जिला मुख्यालय पर बैठे अफसरों को हुई तो वो मौका-ए-वारदात की ओर भागे. हालात बिगड़ने पर मेरठ से आईजी रामकुमार और एडीजी प्रशांत कुमार भी बुलंदशहर पहुंचे हैं.

Web Title : UP: Violence in Bulandshahr on Cow slaughter