फर्जी ईमेल आईडी के जरिये अमेरिकन डॉलर में मंगवाए रुपए, ना तो माल भेजा और ना ही रकम लौटाई

जोधपुर। एक्सपोर्ट-इंपोर्ट का काम करने वाले शहर के एक व्यापारी से हांगकांग में किसी ने फर्जी ईमेल आईडी बनाकर अमेरिकन डॉलर में रुपए मंगवा लिए लेकिन घटना के छह माह बीतने के बावजूद ना तो माल भेजा गया और ना रकम का जवाब मिला। अब पीड़ित ने इस बारे में कोर्ट के मार्फत शास्त्रीनगर थाने में इसकी रिपोर्ट दी है। पुलिस ने इसमें साढ़े तीन हजार अमेरिकन डॉलर दिए जाने का जिक्र किया है जो करीबन 3 लाख से यादा की रकम बनती है।

पुलिस ने बताया कि मीमानी एक्सपोर्ट इंपोर्ट कंपनी मैनेजर प्रोपराइटर माधव मीमानी पुत्र संजीव मीमानी ने बताया कि वह गोपाल मीमानी के साथ माल लेन देन का कारोबार करता है। गत वर्ष हांगकांग से किसी ने फर्म की फर्जी आईडी बनाकर वहां से माल एक्सपोर्ट इंपोर्ट करवाया और बदले में रुपयों की मांग अमेरिकन डॉलर में करने का कहा। मेल आईडी पर हुई वार्तालाप के चलते फर्म के नाम से साढ़े तीन हजार के करीबन अमेरिकन डॉलर जोधपुर से ओलंपिक रोड स्थित इंडसइंड बैंक के जरिए भेजे गए।

चाइना बैंक का इस दौरान सहयोग लिया गया। गत वर्ष 16 अगस्त को डील हुई और 23 अगस्त को फर्म के नाम से उक्त राशि भेजी गई लेकिन वहां से ना तो माल आया और ना ही रकम अब तक नहीं मिली है। मीमानी का आरोप है कि किसी ने फर्म के नाम से फर्जी आईडी बनाकर उक्त राशि मंगवाली और धोखाधड़ी है। शास्त्रीनगर पुलिस ने बताया कि कोर्ट से मिले इस्तगासे पर अब मामला दर्ज किया गया है। अनुसंधान जारी है।

Web Title : US Dollars made through fake email id