भाजपा में स्थानीय नेता के रूप में वसुंधरा राजे ही एकमात्र स्टार प्रचारक

पूर्व सीएम की अब भी है जनता के बीच लोकप्रियता

vasundhara raje ashok gehlot sachin pilot

कांग्रेस में गहलोत-पायलट ही जुटा पा रहे सभाओं में भीड़

खोज खबर

जयपुर। लोकसभा चुनाव 2018 के लिए राजस्थान में चुनाव प्रचार चरम पर है। दो चरणों में 25 सीटों पर होने वाले मतदान से पहले की बात करे तो बीजेपी में स्थानीय नेताओं के रूप में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ही एक मात्र बडा चेहरा है। पूर्व सीएम की जहां-जहां सभाए हुई वहां भीड़ को देख कर उनकी लोकप्रियता का अंदाजा लगाया जा सकता है। दूसरी तरफ कांग्रेस में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ही चुनावी सभाओं में भीड़ जुटा पा रहे है। इस लिए कांग्रेस के स्थानीय नेता सब जगह मिलकर चुनाव सभाए कर कांग्रेस के लिए वोट मांग रहे है।

विधानसभा चुनाव हार के बाद लोकसभा चुनाव के लिए वसुंधरा राजे ने फिर से बढ़त बना ली है। हांलाकि पार्टी में अंदरखाने चल रहे विवाद के कारण राजे प्रदेश की कुछ सीटों पर ही प्रचार कर रही है। मुख्यमंत्री गहलोत के बाद प्रदेश की राजनीति में अब भी पूर्व सीएम राजे ही दूसरी लोकप्रिय नेता है। इसी कारण पार्टी उनकी लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में अधिक से अधिक जनसभाए करवा रही है। बीजेपी व कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं की बात करे तो भाजपा में मोदी, शाह, योगी व राजनाथ सिंह ही अब तक चुनावी सभाओं में अत्यधीक भीड़ जुटा पाए है।

कांग्रेस की तरफ से अभी तक पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के ही हाथ में चुनाव प्रचार की कमान है। उनके बाद पार्टी की महासचिव व बहन प्रियंका गांधी राजस्थान में चुनावी सभाए करने आऐंगी। कांग्रेस के दूसरे राज्यों के नेता व पदाधिकारी महज क्षेत्र व जातिगत सीटों पर ही प्रचार कर रहे है जिसका पार्टी को ज्यादा फायदा नहीं होगा,क्योंकि आम चुनाव मोदी बनाम राहुल गांधी हो गया है।

इस कारण दोनो ही पार्टियों ने अब प्रदेश के लोकसभा चुनाव के लिए सभी चीजों का बारीकी से अध्यन्न करने के बाद क्षेत्र तय कर चुनाव प्रचार की तैयारी में जुटे है। पहले चरण की 13 सीटों के लिए कल चुनाव प्रचार थम जाएगा इस लिए अब दोनो ही पार्टियों ने दूसरे चरण की 12 सीटों के लिए चुनाव प्रचार करने में युद्व स्तर पर तैयारी शुरू कर दी है।

Web Title : vasundhara raje ashok gehlot sachin pilot star pracharak in rajasthan loksabha election 2019