वर्ल्ड शूटिंग चैम्पियनशिप: निशानेबाज़ हृदय हजारिका ने मारी बाजी, जीता गोल्ड

नई दिल्ली: इन दिनों विदेशों में चल रहे टूर्नामेंट्स में भारतीय खिलाड़ी अपना उमदा प्रदर्शन दिखा रहे हैं। दक्षिण कोरिया के चांगवोन में चल रही  ISSF जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारतीय युवा निशानेबाज हृदय हजारिका ने गोल्ड मेडल जीत लिया। फाइनल के लिए क्वॉलिफाइ करने वाले अकेले भारतीय हजारिका ने 627.3 का स्कोर किया। फाइनल में उनका और ईरान के मोहम्मद आमिर नेकूनाम का स्कोर 250.1 रहा । हजारिका ने शूट ऑफ में बाजी मारी और स्वर्ण पदक पर निशाना लगाया।

रूस के ग्रिगोरी शामाकोव को ब्रॉन्ज मेडल मिला। भारतीय टीम 1872.3 अंक लेकर चौथे स्थान पर रही जिसमें हजारिका, दिव्यांश पंवार और अर्जुन बाबुटा शामिल थे। सीनियर वर्ग में 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में भारत को निराशा हाथ लगी क्योंकि कोई भी भारतीय फाइनल में जगह नहीं बना सका। एशियाई खेलों के सिल्वर मेडलिस्ट संजीव राजपूत 58वें स्थान पर रहे। स्वप्निल कुसाले 55वें और अखिल शेरोन 44वें स्थान पर रहे। भारतीय टीम 11वें स्थान पर रही। इस टूर्नामेंट में भारत के 6 स्वर्ण, 6 रजत और 4 कांस्य पदक के साथ कुल 16 पदक हो गए हैं.

फाइनल के लिए क्वालिफाई करने वाले अकेले भारतीय हजारिका ने 627.3 का स्कोर किया. फाइनल में उनका और ईरान के मोहम्मद आमिर नेकूनाम का स्कोर 250.1 रहा. हजारिका ने शूट ऑफ में जीत दर्ज की. रूस के ग्रिगोरी शामाकोव को कांस्य पदक मिला. ISSF World Cup 2018 : शूटिंग चैम्पियनशिप में हृदय हजारिका ने मारी बाजी, जीता गोल्ड मेडल

भारतीय टीम 1872.3 अंक लेकर चौथे स्थान पर रही, जिसमें हजारिका, दिव्यांश पंवार और अर्जुन बाबुटा शामिल थे. भारतीय महिला 10 मीटर एयर राइफल टीम ने 1880.7 के स्कोर के साथ विश्व रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया. भारतीय टीम में शामिल इलावेनिल वालारिवान (631), श्रेया अग्रवाल (628.5) और मानिनी कौशिक (621.5) ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. जूनियर विश्व कप स्वर्ण पदक विजेता इलावेनिल ने नया जूनियर विश्व रिकॉर्ड भी बनाया. सीनियर वर्ग में 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में भारत को निराशा हाथ लगी, क्योंकि कोई भी भारतीय फाइनल में जगह नहीं बना सका.

भारत के ही नाम रहा एयर पिस्टल का गोल्ड

इससे एक दिन पहले एशियन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट सौरभ चौधरी ने विश्व रेकॉर्ड के साथ इस चैंपियनशिप में जूनियर 10 मीटर एयर पिस्टल का गोल्ड जीता जबकि सीनियर निशानेबाजों ने टीम सिल्वर मेडल हासिल किया। व्यक्तिगत स्पर्धाओं में एक बार फिर सीनियर निशानेबाज नाकाम रहे। सौरभ की स्पर्धा में अर्जुन सिंह चीमा ने भी ब्रॉन्ज जीता जबकि भारतीय टीम सौरभ के शानदार व्यक्तिगत प्रदर्शन की बदौलत सिल्वर मेडल अपने नाम करने में सफल रही।

Hriday Hazarika prevailed in a shoot-off with Iran's Mohammed Amir Nekounam after their scores were tied at 250.1.

Web Title : World Shooting Championship: Shooter heart beat Hazarika